--Advertisement--

गांव में नहीं पहुंचते वाहन, इसलिए नहीं लगा चापानल

गांव में नहीं पहुंचते वाहन, इसलिए नहीं लगा चापानल गांव में एक भी चापानल नहीं है। लोगों का कहना है कि रास्ता के...

Dainik Bhaskar

May 10, 2018, 02:50 AM IST
गांव में नहीं पहुंचते वाहन, इसलिए नहीं लगा चापानल

गांव में एक भी चापानल नहीं है। लोगों का कहना है कि रास्ता के अभाव में बोरिंग गाड़ी नहीं आ पाती । ग्रामीण यहां एक मिनी आंगनबाड़ी केंद्र की स्थापना करने की मांग कर रहे हैं। लेकिन इस दिशा में कोई पहल नही हुई। जीतेंद्र मुर्मू ने बताया कि भवानीपुर आंगनबाड़ी केंद्र दो किमी दूर है। बच्चे छोटकी नदी पार कर वहां जाते हैं। इलाज के लिए यहां के लोग झोला छाप चिकित्सक पर ही निर्भर हैं। गंभीर स्थिति में मरीज करो 10 किमी दूर खैराचातर या कसमार ले जाना पड़ता है। यहां के एकमात्र स्कूल है, जिसमें वहां जाने इधर हास्यास्पद बात यह है कि इस स्कूल में कुल 22 बच्चे नामांकित हैं, लेकिन 10 से 15 ही उपस्थित रहते हैं। इस स्कूल को दूसरे स्कूल में मर्ज करने की बात चल रही है। गांव से आठ किमी दूर मवि व उवि हरनाद है। लेकिन बच्चे वहां जाने से कतराते हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..