Hindi News »Jharkhand »Karra» व्यवसायियों और ठेकेदारों से लेवी वसूलने की योजना बनाते पीएलएफआई के 5 हार्डकोर उग्रवादी गिरफ्तार

व्यवसायियों और ठेकेदारों से लेवी वसूलने की योजना बनाते पीएलएफआई के 5 हार्डकोर उग्रवादी गिरफ्तार

खूंटी पुलिस ने रविवार को कर्रा और तोरपा से पीएलएफआई के पांच हार्डकोर उग्रवदियों को गिरफ्तार किया। इसमें एक...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:45 AM IST

व्यवसायियों और ठेकेदारों से लेवी वसूलने की योजना बनाते पीएलएफआई के 5 हार्डकोर उग्रवादी गिरफ्तार
खूंटी पुलिस ने रविवार को कर्रा और तोरपा से पीएलएफआई के पांच हार्डकोर उग्रवदियों को गिरफ्तार किया। इसमें एक नाबालिग भी शामिल है। उनके पास से एक दोनाली बंदूक, एक राइफल, 10 जिंदा कारतूस, चंदे की रसीद और दो मोबाइल बरामद किया है। चारों उग्रवादियों की गिरफ्तारी कर्रा थाना के नगड़ा जंगल से और एक की गिरफ्तारी तोरपा थाना के सुनरूई गांव से हुई। यह जानकारी खूंटी एसपी अश्विनी सिन्हा ने रविवार को प्रेस कांफ्रेंस में दी।

एसपी ने बताया कि उन्हें गुप्त सूचना मिली थी कि पीएलएफआई के जोनल कमांडर तिलकेश्वर गोप के दस्ते के कुछ उग्रवादी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं। साथ ही ठेकेदारों और व्यवसायियों से लेवी वसूलने की योजना बना रहे हैं। इसके बाद एएसपी अभियान अनुराग राज के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया गया। टीम में कर्रा के थानेदार उदय गुप्ता, सअनि जवाहर चौधरी और जेजे व जिला पुलिस बल के जवानों को शामिल किया गया। टीम जैसे ही नगड़ा जंगल के पास पहुंची, चारों नक्सली भागने लगे। पुलिस के जवानों ने उन्हें खदेड़ कर पकड़ा। गिरफ्तार उग्रवादियों में नगड़ा गांव का नाबालिग अर्जुन ओहदार, सुखदेव सिंह उर्फ बीड़ू, चंद्रकिशोर गोप और अकबर गोप शामिल है। चंद्रकिशोर गोप का पुराना आपराधिक इतिहास है। उसके खिलाफ कर्रा थाने में दो मामले दर्ज हैं। इसके पहले भी पुलिस उसे दो बार गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। उधर, तोरपा थाना के पुनरूई (तपकारा) में छापामारी कर पीएलएफआई के हार्डकोर नक्सली अजीत सांगा को गिरफ्तार किया गया है। अजीत ने आठ अक्टूबर 2015 को तोरपा के तरिया मोड़ के पास गुमला निवासी शिवशंकर नाग की गोली मार कर हत्या कर दी थी। उसने तोरपा थाना के महराओड़ा निवासी अनिल डोडराय की हत्या की नीयत से अपहरण कर लिया था, पर पुलिस ने उसे मुक्त करा लिया। इसके लावा मुरहू के घघारी गांव वालों को बुला कर उनका मोबाइल जब्त करने की घटना में भी वह शामिल था।

पुलिस ने खदेड़ कर चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया

चंद्रकिशोर गोप का पुराना आपराधिक इतिहास रहा है।

तपकारा से अजीत सांगा पकड़ाया, जो हत्या का आरोपी है।

पुलिस की गिरफ्त में पीएलएफआई के उग्रवादी। सभी आरोपी जोनल कमांडर तिलकेश्वर गोप के दस्ते से जुड़े हैं।

इधर, पिपरवार में माओवादियों ने की फायरिंग, लोडिंग कार्य ठप

इधर, पिपरवार थाना क्षेत्र की बहेरा पंचायत में पड़ने वाले ठेठांगी और सिदालू के जंगल में शनिवार रात माओवादियों ने दहशत फैलाने के उद्देश्य से करीब 10 राउंड हवाई फायरिंग की। इसके बाद राजधर साइडिंग में कोयला लोडिंग और ट्रांसपोर्टिंग पूरी तरह से ठप हो गई। घटना की सूचना मिलने पर पिपरवार के थानेदार दल-बल के साथ रात में छापामारी की। लेकिन, सफलता नहीं मिली। जब तक पुलिस वहां पहुंची, माओवादी दहशत फैला कर जा चुके थे। घटना के संबंध में वहां मौजूद एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि रात 11 बजे नौ बाइक में माओवादी आए थे और पूरे क्षेत्र में हवाई फायरिंग की। इससे लोग अपने घरों में ही दुबके रहे। पुलिस प्रशासन के हस्तक्षेप से रविवार सुबह 10 बजे से राजधर साइडिंग का कामकाज सामान्य हुआ। लोग अपने-अपने कम पर लौटे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Karra

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×