सेहरी के लिए बकरख्वानी, शीरमाल और इफ्तार के लिए खजूरों की दुकानाें पर भीड़

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:16 AM IST

Kodarma News - रमजानुल मुबारक का रहमत का पहला अरसा समाप्त हो गया। वहीं दूसरा अरसा मगफिरत का शुक्रवार से शुरू हो गया। मगफिरत का...

Kodarma News - crowds of pajamas shops for sekhri bakrkhvani sheermal and iftar
रमजानुल मुबारक का रहमत का पहला अरसा समाप्त हो गया। वहीं दूसरा अरसा मगफिरत का शुक्रवार से शुरू हो गया। मगफिरत का दूसरा अरसा 11 रमजान से 20 रमजान तक जारी रहेगा। वहीं रमजानुल मुबारक का अंतिम तीसरा अरसा जहन्नम की आग से आजादी का है, जो 21 से 30 रमजान तक का होगा। रमजान के दूसरे अरसे में रोजेदारों ने पूरे अकीदत के साथ रोजा रखा और अपना अधिकांश समय इबादत में गुजारा। रमजान के दूसरे जुमे की नमाज को लेकर सभी मस्जिदों में नमाजियों की काफी भीड़ देखी गई। जुमे की नमाज को लेकर सुबह से ही मस्जिदें गुलजार रही। जुमे की अजान होते ही लोग नमाज अदा करने के लिए मस्जिदों की ओर चल पड़े।

रमजान के दूसरे जुमे में भी लोगों में काफी उत्साह देखा गया। मुस्लिम बहुल मुहल्लों में सुबह से ही चहल-पहल देखी गई। रमजान को लेकर फलों की दुकानों में खरीदारी के लिए लोगों की भीड़ देखी गई। सेहरी के लिए बकरख्वानी, शीरमाल और इफ्तार के लिए खजूरों की दुकानाें पर भी लोगों की भीड़ देखी गई। कई स्थानों पर सेवइयों की दुकानें भी सजने लगी हैं। जुमे की नमाज को लेकर जामा मस्जिद असनाबाद, जामा मस्जिद भादोडीह, जामा मस्जिद दर्जी मुहल्ला, जामा मस्जिद झलपो, जामा मस्जिद छतरबर, बाराटोला, गुमो, भंडरवा, दर्जीचक, जलवाबाद आदि मस्जिदों में नमाजियों की काफी भीड़ देखी गई। वहीं मरकच्चो, जयनगर प्रखंड के विभिन्न मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में शुक्रवार को अकीदत के साथ रमजानुल मुबारक जुमे की नमाज मुस्लिम धर्मावलंबियों ने अदा की। इबादतों का त्योहार रमजान का तेरहवां रोजा व दूसरा जुमा संपन्न हुआ।

प्रति व्यक्ति 40 रुपए सदक-ए-फितर अदा करे : शहर-ए-काजी मुफ्ती मोहम्मद नसीम ने बताया कि इस साल सदक-ए-फितर प्रति व्यक्ति 40 रुपए निर्धारित की गई है। उन्हाेंने बताया कि सदक-ए-फितर हर साहेबा निशाब अपनी तरफ से और अपने नाबालिग औलादों की तरफ से अदा करे। उन्होंने बताया कि साहेबा निशाब वो है जिनपर जकात फर्ज है, अर्थात् जकात का मसला साल पूरा होने पर देना है, जबकि सदक-ए-फितर का मसला ईद के दिन सिर्फ साहेब-ए-निशाब है तो सदक-ए-फितर अदा करना वाजिब है।

X
Kodarma News - crowds of pajamas shops for sekhri bakrkhvani sheermal and iftar
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543