--Advertisement--

न शराब बनाएंगे और न ही किसी को बेचने देंगे

माइका-माइंस क्षेत्र में इन दिनों शराब का प्रचलन काफी बढ़ गया है। लिहाजा, घरेलू हिंसा और प्रताड़ना की शिकार महिलाओं...

Danik Bhaskar | Apr 11, 2018, 02:45 AM IST
माइका-माइंस क्षेत्र में इन दिनों शराब का प्रचलन काफी बढ़ गया है। लिहाजा, घरेलू हिंसा और प्रताड़ना की शिकार महिलाओं ने मंगलवार को ढाब पंचायत के बुढिया-बंदना गांव में बैठक आयोजित कर शराब बंदी पर चर्चा की। मौके पर सैकड़ों महिलाएं मौजूद थी। महिलाओं ने पहले शराब पीने और बेचने से होने वाले दुष्परिणामों पर चर्चा करते हुए कहा कि शराब पीने और बेचने से किसी को कोई विशेष फायदा नहीं होता है, बल्कि नुकसान उठाना पड़ता है और स्वास्थ्य तथा माहौल बिगड़ने के साथ-साथ गाढ़ी कमाई लूट जाती है। वहीं बच्चियों के साथ दुर्व्यवहार होता है। जिसके कारण घर में महिलाएं परेशान रहती है। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया कि अब से इस गांव में न कोई दारू पियेगा और न ही गांव में शराब बिकेगा। वहीं बेचने वालों ने भी शराब से होने वाले हानि की बात स्वीकारी और शराब नहीं बेचने का संकल्प लिया। इस पर महिलाओं ने ताली बजाकर उनका स्वागत किया। बैठक में महिलाओं ने शराब बंदी को लेकर कई प्रस्ताव लिए, जिसमें यदि कोई इस नियम को तोड़ने की कोशिश करेंगे उनके खिलाफ महिलाएं ढाब थाना में लिखित शिकायत दर्ज कराएगी। थाना द्वारा कार्रवाई नहीं होने पर उग्र आंदोलन किया जाएगा। मौके पर पूनम देवी, दर्शनी देवी, कौशल्या देवी, कौशल्या देवी, सुनीता देवी, गुड़िया देवी, जमुनावा देवी, मालो देवी, रेवती देवी, मुनिया देवी, किरण देवी, अनीता देवी, चिनवा देवी सहित कई महिलाएं मौजूद थी।