अधिकारों के लिए संगठित हो महिलाएं: रामपरी

Kodarma News - अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति(एडवा) का दो दिवसीय छठा राज्य सम्मेलन शनिवार को विवाह भवन झुमरी तिलैया में शुरू हुआ।...

Nov 10, 2019, 07:31 AM IST
अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति(एडवा) का दो दिवसीय छठा राज्य सम्मेलन शनिवार को विवाह भवन झुमरी तिलैया में शुरू हुआ। सम्मेलन में राज्य के 15 जिलों से 175 प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। सम्मेलन की शुरुआत प्रदेश अध्यक्ष गीता झा ने संगठन का झंडा फहराकर किया।

वहीं शहीद वेदी पर प्रतिनिधियों ने पुष्प अर्पित कर शहीदों को याद करते हुए दो मिनट का मौन रख श्रद्धांजलि दी। प्रतिनिधियों का स्वागत सामाजिक कार्यकर्ता असीम सरकार ने किया। सम्मेलन का विधिवत उद्घाटन एडवा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामपरी ने किया। मौके पर उन्होंने कहा कि देश में लगातार महिलाओं पर अत्याचार बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि आज महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ रही हैं, जिसका शिकार बच्ची से लेकर वृद्ध महिलाएं हो रही हैं। उन्होंने कहा कि महिलाओं को अपने अधिकारों के लिए संगठित होकर आंदोलन को और तेज करने की जरूरत है। वहीं डीवाईएफआई के राज्य सचिव संजय पासवान ने कहा कि सरकार की नीतियों के चलते 90 लाख रोजगार छीन गया है।

वहीं सार्वजनिक क्षेत्र रेल, बैंक, बीमा, एयरलाइंस, काेयला क्षेत्र का निजीकरण कर अडाणी, अंबानी सहित अन्य पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाकर देश को कमजोर किया जा रहा है। एडवा की राष्ट्रीय सचिव माया लायक ने राजनीतिक व सांगठनिक प्रतिवेदन पेश किया, जिसपर प्रतिनिधि अपना अपना सुझाव देंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता चार सदस्यीय अध्यक्ष मंडल गीता झा, जया मजुमदार, छवि धर व शिवानी पाल ने की। वहीं मिन्ट्स कमेटी में वीणा लिंडा, पालमुनी किस्कू, रेणु दास व क्रेडेंशियल कमेटी में रेणु प्रकाश को शामिल किया गया। मौके पर पूर्णिमा राय, रानी देवी, रिंकी देवी, निर्मला देवी सहित अन्य लोग मौजूद थे। सम्मेलन को सफल बनाने में महेंद्र तुरी, सुरेंद्र राम, रामचंद्र राम, मोहित रविदास सहित अन्य ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना