• Hindi News
  • Jharkhand
  • Kujju
  • आश्रितों की नौकरी व अन्य मांगों पर सात घंटे ठप कराया डिस्पैच
--Advertisement--

आश्रितों की नौकरी व अन्य मांगों पर सात घंटे ठप कराया डिस्पैच

सीसीएल प्रबंधन द्वारा कामगार विरोधी निर्णय के विरुद्ध सोमवार को सीसीएल कर्मचारी संघ (भामसं) के समर्थकों ने दूसरे...

Dainik Bhaskar

Jul 03, 2018, 03:30 AM IST
आश्रितों की नौकरी व अन्य मांगों पर सात घंटे ठप कराया डिस्पैच
सीसीएल प्रबंधन द्वारा कामगार विरोधी निर्णय के विरुद्ध सोमवार को सीसीएल कर्मचारी संघ (भामसं) के समर्थकों ने दूसरे चरण के आंदोलन के तहत कुजू क्षेत्र के तोपा, करमा, पिंडरा व कुजू साइडिंग में डिस्पैच कार्य 7 घंटे के लिए ठप कर दिया। समर्थक 1-0 स्टेगर्ड रेस्ट लागू नहीं करते हुए यथावत रखने, आश्रितों की नौकरी पर रोक हटाते हुए अविलंब नियुक्त करने, शिक्षा के आधार पर पदस्थापित करने, कल्याण कारी योजना में कटौती पर रोक लगाने की मांग कर रहे थे। बंदी के दौरान दरभंगा हाउस द्वारा मिले पत्र में आगामी 4 जुलाई को वार्ता करने के आश्वासन के साथ डिस्पैच कार्य सुचारु हुआ। समर्थकों ने कहा कि उक्त तिथि को तय वार्ता में हमारी मांगों पर सहमति नहीं बनी तो सीसीएल प्रबंधन के विरुद्ध अनिश्चितकालीन आंदोलन किया जायेगा। जिसकी सारी जवाबदेही प्रबंधन की होगी। आंदोलनकारी कार्यक्रम में अनूपलाल चौधरी, श्याम सिंह, शंकर, रामप्रसाद साहू, अशोक सिंह, दीपक कुमार, ईश्वर दयाल महतो, चरित्र सिंह, शंकर प्रसाद, विजय पासवान, त्रिपुरारी सिंह सहित भामसं समर्थक मौजूद थे।

सीसीएल प्रबंधन की नीतियों के विरोध में डिस्पैच रोकते भामसं समर्थक।

बीएमएस ने सभी परियोजनाओं में कोयला ट्रांसपोर्टिंग ठप कराई

घाटोटांड़ | सीसीएल हजारीबाग एरिया की सभी परियोजनाओं में बीएमएस ने सोमवार को कोयला ट्रांसपोर्टिंग ठप करा दिया। बीएमएस के आंदोलन से एरिया के परेज, केदला भूगर्भ, झारखंड उत्खनन, बसंतपुर वाशरी, तापिन परियोजनाओं में पूरी तरह से कोयला संप्रेषण बंद रहा। आंदोलन का नेतृत्व कर रहे बीएमएस के हजारीबाग जिला मंत्री शंकर सिंह ने बताया कि सीसीएल में आश्रितों की नियुक्ति बंद की जा रही है। कोयला कामगारों को स्टैगर्ड रेस्ट डे देकर उनकी स्वतंत्रता छीनी जा रही है। हजारीबाग एरिया में आउटसोर्सिंग से काम लिया जा रहा है। बड़े पैमाने पर कोयला कर्मियों पर प्रबंधन और सरकार ने हमला किया है। ऐसे में मजदूरों के बीच प्रबंधन के प्रति गतिरोध पैदा हो चुका है। लगातार बढ़ रहे दबाव के विरोध में हमने आंदोलन किया है। प्रबंधन जल्द ही मजदूरों के खिलाफ लिए गए फैसले को वापस ले। अगर ऐसा नहीं हुआ तो चरणबद्ध तरीके से आंदोलन जारी रहेगा। मौके पर दिलीप सिंह, उत्तम सोरेन, जय हिंद चौहान, अशोक कुमार, पीके तिवारी, पप्पू दुबे, सुरेश पवन, उमेश करमाली, सुरेश तिवारी, रितेश सिंह, मंतोष सिंह, आरडी शर्मा, जेपी राणा, चन्द्र मिश्रा, ध्रुव सिंह, रंजीत कुमार, कामाख्या प्रसाद आदि मौजूद थे।

X
आश्रितों की नौकरी व अन्य मांगों पर सात घंटे ठप कराया डिस्पैच
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..