• Home
  • Jharkhand News
  • Loyabad
  • टेस्टिंग में ही फेल हो गई ‌Rs.1.65 करोड़ की लागत से बनी जलमीनार
--Advertisement--

टेस्टिंग में ही फेल हो गई ‌Rs.1.65 करोड़ की लागत से बनी जलमीनार

गुलाम अरशद

Danik Bhaskar | Jul 08, 2018, 03:35 AM IST
गुलाम अरशद
करोड़ों की लागत से बनकर तैयार नया जलमीनार टेस्टिंग में ही फेल हो गया। पानी डालते ही जलमीनार से रिसाव शरू हो गया। मामला लोयाबाद का है। यहां करीब 4 वर्षों से जलमीनार बनकर तैयार है। हालांकि बनने के बाद से ही इस जलमीनार में दरार दिखाई पड़ रही थी। जलमीनार में पानी का रिसाव होने से यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि फिलहाल लोयाबाद के लोगों पेयजलापूर्ति के लिए और इंतजार करना पड़ेगा। पानी रिसाव के बाद तमाम लोगों के जेहन में यह प्रश्न उठ रहा है कि इस नए जलमीनार से आखिर पानी का रिसाव क्यों हो रहा है। लोगों के अनुसार जलमीनार के निर्माण में घोर अनियमितता बरती गई है। बताया जाता है कि पीएचईडी विभाग द्वारा लोयाबाद कोलियरी कार्यालय के समक्ष तकरीबन एक लाख गैलन क्षमता का जलमीनार बनाया गया है। जिसकी लागत एक करोड़ 65 लाख रुपए बताई जाती है।

4 वर्षों से बनकर तैयार है जलमीनार | जानकारी के मुताबिक पीएचडीई विभाग की यह योजना है। लोयाबाद आदि क्षेत्रों में पेयजलापूर्ति को लेकर यहां जलमीनार बनाया गया। पुटकी सियालगुदरी में वाटर रिजर्वायर बनाया गया है।

50 हजार की आबादी को मिलेगा फायदा |जलापूर्ति योजना के धरातल पर उतरने से लोयाबाद समेत आसपास के लोगों को लाभ मिलेगा। योजना के शुरू होने से लोयाबाद इलाके में व्याप्त पेयजल संकट से लोगों को राहत मिलेगी।