• Home
  • Jharkhand News
  • Mandu
  • सुबह से ही मतदान केंद्रों पर लगी रही कतार
--Advertisement--

सुबह से ही मतदान केंद्रों पर लगी रही कतार

रामगढ़ जिले के 32 वार्डों में पहली बार नगर निकाय का चुनाव होने वोटरों में खासा उत्साह देखा गया। मतदान आरंभ होते ही...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 02:30 AM IST
रामगढ़ जिले के 32 वार्डों में पहली बार नगर निकाय का चुनाव होने वोटरों में खासा उत्साह देखा गया। मतदान आरंभ होते ही सभी बूथों में मतदाताओं की लंबी कतार लगी गई। देर शाम तक छत्तरमांडू और मरार के बूथों में शाम सात बजे तक लोग मतदान करते नजर आए। मतदाताओं का आरोप था कि छत्तरमांडू के बूथ नंबर 78 और 79 में काफी धीमी गति से मतदान कराया जा रहा है। दोपहर एक बजे तक 14सौ से ज्यादा की संख्या में मतदाता होने के बावजूद मात्र 350-400 मतदाता ही वोट डाल पाए थे।

धीमी गति से मतदान होने की शिकायत ग्रामीणों ने डीसी राजेश्वरी बी से भी की थी। जबकि उच्च विद्यालय कोठार के बूथ नंबर 29/3 में सबसे अधिक 90.31 प्रतिशत मतदान हुआ। इस बूथ में 1110 मतदाताओं में से 904 मतदाताओं ने मत का प्रयोग किया है। बोंगाबार के बाधाधोहर बूथ में 88.6 और दिगबार बूथ में 82.86 प्रतिशत मतदान होने की सूचना है। वहीं बरकाकाना सीसीएल के डीएवी स्कूल के बूथ नंबर 23/2 में मात्र 33.37 प्रतिशत मतदान हुआ। इस बूथ में कुल मतदाताओं की संख्या 779 था। इसमें मतदान के अंतिम समय तक मात्र 260 मतदाताओं ने ही अपने मतों का प्रयोग किया। वहीं अरगडा-सिरका के बूथ नंबर 13,14 और 15 नंबर में भी मतदान का पचास प्रतिशत से कम हुआ। बूथ नंबर 13 में कुल 437 मतदाता थे। इसमें मात्र 197 लोगों ने मतदान किया।

धूप में भी छाता लेकर मतदान करने को लेकर डटे रहे मतदाता

सोमवार की सुबह मतदान के दिन रामगढ़ प्रखंड के कई बूथों में चिलचिलाती धूप के बावजूद लोग मतदान के लिए कतारबद्ध होकर घंटों खड़े रहे। महिलाएं छाता लेकर तो किसान वर्ग के लोग माथा में पगड़ी बांधकर कतार में खड़े होकर अपने मत का प्रयोग करने के लिए बूथ में खड़े दिखे।

धूप की वजह से कई लोग मूर्छित होकर गिर पड़ मतदान केंद्र में

कड़ी धूप और लंबी लाइन की वजह से चुनाव के दौरान कई बुजुर्ग मतदाता मूर्छित होकर गिर पड़े। बाद में परिजनों ने बिना वोट दिए ही उन्हें उठाकर घर ले गए। छत्तरमांडू के बूथ नंबर 78 में वोट डालने आई महिला रुक्मनी देवी 70 वर्ष कतार में खड़ी थी। लेकिन बूथ में ज्यादा भीड़ होने के कारण उन्हें धूप में खड़ा रहना पड़ा। इससे वे मूर्छित होकर गिर पड़ी। वहीं मरार के भी बूथ में दो लोगों के मूर्छित होकर गिरने की सूचना है।