• Hindi News
  • Jharkhand
  • Mandu
  • मांडू : जन सुनवाई कार्यक्रम में मनरेगा की मजदूरी बढ़ाने की उठाई गई मांग
--Advertisement--

मांडू : जन सुनवाई कार्यक्रम में मनरेगा की मजदूरी बढ़ाने की उठाई गई मांग

प्रखंड सभागार मांडू में शुक्रवार को मनरेगा अंतर्गत सामाजिक अंकेक्षण प्रक्रिया के तहत प्रखंड स्तरीय जन सुनवाई...

Dainik Bhaskar

Jul 14, 2018, 03:25 AM IST
मांडू : जन सुनवाई कार्यक्रम में मनरेगा की मजदूरी बढ़ाने की उठाई गई मांग
प्रखंड सभागार मांडू में शुक्रवार को मनरेगा अंतर्गत सामाजिक अंकेक्षण प्रक्रिया के तहत प्रखंड स्तरीय जन सुनवाई कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें प्रमुख चंद्रमणि देवी, बीडीओ मनोज कुमार गुप्ता व 20 सूत्री अध्यक्ष जगेश्वर प्रजापति समेत अंकेक्षण दल के सदस्यों ने 17 पंचायतों के विभिन्न मामलों की सुनवाई की। कार्यक्रम के दौरान रतवे मुखिया तुलेश्वर प्रसाद ने मजदूरों को मिलने वाले 168 रुपए मजदूरी भुगतान पर असंतोष जाहिर किया। कहा कि बढ़ती महंगाई की तुलना में कम पारिश्रमिक मिलने से कोई मजदूर मनरेगा योजना में काम नहीं करना चाहता है। ऐसी स्थिति में सभी मुखिया मजदूरों को अतिरिक्त भुगतान कर योजनाओं को पूरा कराते हैं। इससे सभी मुखिया मनरेगा योजना से काफी नाराज हैं। लोगों ने एक स्वर में जाॅब कार्डधारियों की मजदूरी दर बढ़ाने की मांग की। कार्यक्रम के दौरान छोटकी डुंडी, सारूबेड़ा, बड़गांव व रतवे पंचायत में मनरेगा सप्लायर द्वारा भारी अनियमितता बरते जाने का मामला उठाया। कहा गया कि उक्त सप्लायर द्वारा लाभुकों के बीच कम राशि का भुगतान किया जाता है। इससे लाभुकों में सप्लायर के प्रति काफी नाराजगी है। इधर मंझला चुंबा के रोजगार सेवक दशरथ यादव द्वारा नजारत शाखा में प्राप्ति रसीद नहीं कटाने के एवज में भरी सभा में सदस्यों ने उन्हें 500 रुपए जुर्माना लगाया। मौके पर एसआरपी रामेश्वर प्रसाद वर्मा, डीआरपी भीमलाल साहू, बीआरपी बहादुर प्रसाद वर्मा, बीपीओ प्रीप कुमार, शिवबचन सिंह, शाहिद सिद्दीकी, जयमंगल सिंह, योगेंद्र गुप्ता, अली हुसैन, रोहन रविदास मौजूद थे।

सरकार की नीतियों की वजह से मजदूरों पर हमले बढ़े

कुजू | आरा- सारूबेड़ा स्थित मोती मार्केट में शुक्रवार को एनसीओईए (सीटू) का क्षेत्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि यूनियन के महामंत्री आरपी सिंह शामिल हुए। उन्होंने झंडोतोलन कर सम्मेलन का शुभारंभ करते हुए कहा कि केंद्र सरकार की नीतियों के चलते मेहनतकश मजदूरों पर हमला तेजी से बढ़ा है। साथ ही कोयला उद्योग को निजी मालिकों के हाथों सौंपा जा रहा है। सम्मेलन के दौरान द झारखंड कोलियरी श्रमिक यूनियन को छोड़कर दाहो महतो के नेतृत्व में बड़ी संख्या में एनसीओईए का सदस्यता ग्रहण किया।सम्मेलन की अध्यक्षता रोहन महतो ने किया। बाद में सर्वसम्मति से 18 क्षेत्रीय समिति का गठन किया गया। मौके पर जोनल सचिव अरूण कुमार सिंह, केंद्रीय सदस्य बलभद्र दास लालेश्वर महतो, अर्जुन कुमार, नारायण भुइयां, विजय कुमार महली, राजेश हांसदा आदि मौजूद थे।

X
मांडू : जन सुनवाई कार्यक्रम में मनरेगा की मजदूरी बढ़ाने की उठाई गई मांग
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..