--Advertisement--

हल्दी, अदरक और ओल की करें खेती : डाॅ इंद्रजीत

इन दिनों क्षेत्र में हो रही बारिश से किसानों को लाभ दिलाने के लिए कृषि विज्ञान केंद्र मांडू रामगढ़ के कृषि...

Dainik Bhaskar

May 29, 2018, 03:30 AM IST
इन दिनों क्षेत्र में हो रही बारिश से किसानों को लाभ दिलाने के लिए कृषि विज्ञान केंद्र मांडू रामगढ़ के कृषि वैज्ञानिक डाॅ. इंद्रजीत प्रजापति काफी गंभीर हैं। उन्होंने मौसम को देखते हुए किसानों को हल्दी, अदरक व ओल की खेती करने की बात कही है। कहा गया है कि संभावित वर्षा के बाद खेत को तैयार कर उसमें बीज की बुआई अवश्य करे। यदि मिट्टी में नमी की कमी है तो किसान जमीन की हल्की सिंचाई कर बुआई कर सकते हैं। उन्होंने हल्दी की उन्नत किस्म राजेंद्र सोनिया एवं ओल के लिए गजेंद्र और अदरक के लिए कुसुम पदमा बेहतर बीज बताया।

खेती करने के बताये तरीके

हल्दी, अदरक व ओल की बुआई करने से पहले कटे हुए कंद को फफूंदी नाशक दवा से उपचार करने की सलाह दी है। इसके बाद कंद को उपचारित करने के लिए दो ग्राम बाबस्ट्रीन को एक लीटर पानी कर दर से आवश्यकतानुसार दवा एवं पानी को मिलाकर कंद को एक घंटा तक डुबोकर छोड़ने की बात कही है। करीब एक घंटे के बाद ऐसे कंद को दवा के घोल से निकालकर छाया में रखने के बाद खेतों में बुआई करने पर जोर दिया है।

ऐसे करें मिट्टी तैयार

कृषि वैज्ञानिक ने किसानों को मिट्टी तैयार करने के तरीके भी बताये हैं। उन्होंने बताया है कि मिट्टी में उपलब्ध नमी को देखते हुए किसानों को खेत की जुताई मिट्टी पलटने वाले हल से करने की जानकारी दी है। उन्होंने मिट्टी को खुला छोड़ने पर जोर दिया है। कहा है कि खेत में खुली मिट्टी रखने पर खर पतवार व कीड़े मकोड़े नष्ट हो जाएंगे। साथ ही खेतों में नमी का संरक्षण भी बरकरार रहेगा।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..