Hindi News »Jharkhand »Mandu» एसपी से मिलकर दोषियों को दिलाएंगे सजा

एसपी से मिलकर दोषियों को दिलाएंगे सजा

मांडू निवासी बालेश्वर पांडेय के पुत्र मनोज पांडेय की हजारीबाग में हुई निर्मम हत्या की गुत्थी अब तक नहीं सुलझ पाई...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 03, 2018, 03:35 AM IST

मांडू निवासी बालेश्वर पांडेय के पुत्र मनोज पांडेय की हजारीबाग में हुई निर्मम हत्या की गुत्थी अब तक नहीं सुलझ पाई है। हत्याकांड के उद्भेदन को लेकर हजारीबाग पुलिस द्वारा अब तक कोई सकारात्मक पहल नहीं किए जाने से परिजनों में पुलिस के खिलाफ काफी आक्रोश है।

मामले को लेकर मृतक के परिजनों ने हजारीबाग के पूर्व सांसद प्रो. यदुनाथ पांडेय से संपर्क कर न्याय की गुहार लगाई। मामले की जानकारी मिलते ही पूर्व सांसद सोमवार को मृतक के आवास बाजारटांड़ मांडू पहुंचकर घटनाक्रम की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने शीघ्र ही हजारीबाग पुलिस अधीक्षक से मिलकर वारदात को अंजाम देने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई कराने का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि मांडू से मेरा पुराना रिश्ता है। यहां के लोग सुख दुख में जब भी मुझे याद करेंगे मैं लोगों की मदद के लिए जरूर आउंगा। उल्लेखनीय है कि हजारीबाग के कालीबाड़ी स्थित मेगा सेल्स माॅल में मांडू के मनोज पांडेय कमांडो सिक्योरिटी गार्ड के तौर पर कार्य करते थे। इस दौरान अपराधियों ने विगत 19 मई की रात मनोज की निर्मम हत्या कर निकट के नाले में उनके शव को फेंक दिया था। मौके पर पूर्व सांसद के साथ प्रदेश संयोजक धनंजय कुमार पुटुस, दिलीप सिंह, राजकपूर साव, ज्योति प्रसाद, राम लखन मुनि, अशोक कुमार मोदी, जय किशन मौजूद थे।

लोकायुक्त से की पंजी टू में छेड़छाड़ की शिकायत

मगनपुर | गोला प्रखंड क्षेत्र के साड़म गांव के एक दर्जन रैयतों ने पत्र लिखकर लोकायुक्त झारखंड रांची को मौजा साडम के हल्का नंबर 5 खाता नंबर 42, वॉल्यूम नंबर 8, पृष्ठ संख्या 52 में दलालों के माध्यम से छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया है। इसमें कहा है कि कुल रकबा 7 एकड़ 74 डिसमिल है। इस पर पंजी टू में छेड़छाड़ कर दूसरे के नाम जमाबंदी किया गया है। इससे हम सभी रैयतों की परेशानी बढ़ गई है। लोगों ने न्याय की गुहार लगाई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mandu

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×