मांडू

--Advertisement--

बंद से थमा शहर, रोजमर्रा की चीजांे को तरसे लोग

अलीमुद्दीन कांड में अदालत द्वारा 11 अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा दिए जाने के बाद मामले की सीबीआई जांच कराने...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 03:40 AM IST
बंद से थमा शहर, रोजमर्रा की चीजांे को तरसे लोग
अलीमुद्दीन कांड में अदालत द्वारा 11 अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा दिए जाने के बाद मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग पर मंगलवार को जिले में बुलाई गई बंद का व्यापक असर रहा। अटल विचार मंच के बैनर तले पूर्व विधायक शंकर चौधरी के आह्वान पर बंद समर्थकों ने सुबह सात बजे ही लाठी-डंडे के साथ सड़कों पर उतरकर शहर के सुभाष चौक, नयीसराई चौक, रांचीरोड, बाइपास फोरलेन मोड़, कोठार चौक, छत्तरमांडू चौक सहित एनएच 33 और 23 पर जगह-जगह जाम कर दिया। जिससे छह घंटे तक जिले की यातायात व्यवस्था पूरी तरह से ठप रही। सड़क के दोनों ओर लंबी वाहनों की कतार लगी रही। कहीं भी ऑटो, रिक्शा सहित अन्य वाहनों के नहीं चलने से यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। रांची से रामगढ़ आनेवाले यात्रियों को लगभग पांच किलोमीटर तक पैदल चलना पड़ा। शहरी क्षेत्र की सभी छोटी-बड़ी दुकानें देर शाम तक बंद रही। डेली सब्जी मार्केट भी बंद रहा, जिससे लोगों को सब्जियों सहित अन्य रोजमर्रा के सामान के लिए परेशान होता देखा गया। दोपहर लगभग एक बजे के बाद बंद समर्थकों ने शहर में विशाल जुलूस निकाला। इसके बाद नगर भ्रमण करते छावनी फुटबॉल मैदान पहुंचकर विशाल सभा के आयोजन के बाद सड़क जाम खुल पाया। तब जाकर प्रशासन ने राहत की सांस ली।

अलीमुद्दीन कांड की सीबीआई जांच के लिए छह घंटे बंद रहा शहर, पांच किमी पैदल चले रांची से आए यात्री

बंद समर्थकों ने घूम-घूमकर बंद कराई दुकानें, गाड़ियों के नहीं चलने से परेशान रहे यात्री, मूकदर्शक बनी रही पुलिस

पत्रकारों को फोटो खींचने से रोका गया : जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे लोगों को संपूर्ण न्याय दिलाने की मांग को लेकर आयोजित बंद के दौरान पुलिस भी मूकदर्शक बनी रही। पुलिस मुख्यालय से महज आधे किलोमीटर की दूरी पर स्थित छत्तरमांडू चौक में बंद समर्थकों में काफी आक्रोश देखा गया। बंद समर्थक सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए चौक के समीप जमकर प्रदर्शन किया। इस दौरान बंद समर्थकों ने पत्रकारों को भी फोटो खींचने से रोका। आक्रोशित लोगों ने कई लोगों का फोटो खींचने के क्रम में मोबाइल छीन लिया। बाद में फोटो डिलीट कर मोबाइल लौटाया।

चाय और पान की दुकानें भी बंद रही : मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग को लेकर रामगढ़ बंद का दुकानदारों ने भी समर्थन करते हुए अपने व्यापारिक प्रतिष्ठानों को बंद रखा। इतना तक कि छोटे-छोटे पान दुकान और चाय की दुकानें तक देर शाम तक बंद रही। इसके बावजूद दुकानों को बंद कराने को लेकर बंद समर्थक बाइक से पूरे शहर में दिनभर चक्कर लगाते नजर आए।

रामगढ़ बंद के दौरान निकली रैली को संबोधित करते पूर्व विधायक शंकर चौधरी।

कई राजनीतिक और सामाजिक संगठनों ने बंद का किया समर्थन : अटल विचार मंच के तत्वावधान मे आयोजित रामगढ़ बंद का विभिन्न राजनीतिक और सामाजिक संगठनों ने समर्थन दिया। हिन्दू समाज पार्टी, किसान बेरोजगार संघर्ष मोर्चा, डेली मार्केट किसान मजदूर संघ, ज्ञान महिला समिति, छतरमांडू नवयुवक संघ, आओ साथ चलें सहित कई सामाजिक और महिला संगठनों ने बंद का समर्थन किया। मौके पर प्रभात अग्रवाल, राजकुमार कुशवाहा, राजेंद्र प्रसाद कुशवाहा, अशोक जैन, राहुल शर्मा, नरेश प्रसाद, सुरेंद्र मिश्रा, विनोद जायसवाल, राजेंद्र शर्मा, धीरज सिंह, अशोक साहू, घनश्याम महतो, गौतम गिरी, ओमप्रकाश कुशवाहा, चरण केवट, किशोरी केवट, अभय सिंह, श्रीनारायण महतो, रामेश्वर महतो, नेमधारी महतो, उपेंद्र वर्मा, अनिल कुशवाहा, जगदीश शर्मा, नागेंद्र पांडेय, प्रेम राम, राजेश सिन्हा, शंकर यादव, सरस्वती देवी, शांति देवी, लक्ष्मी देवी, पार्वती देवी, पूर्णिमा वर्मा के अलावे पीड़ित परिवार के सदस्यों सहित हजारों महिला-पुरुष शामिल थे।

पूर्व विधायक ने सांसद पर उतारी भड़ास, कहा जनता सेे किए वायदे पूरा करें, नहीं तो गो बैक

अटल विचार मंच के बैनर तले निकाली गई रैली को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक शंकर चौधरी ने स्थानीय सांसद सह केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जनता से किये वायदे को पूरा करो, अन्यथा गो बैक हो जाओ। पूर्व विधायक ने यह भी कहा कि अगर मामले की सीबीआई जांच नहीं कराई गई तो अगले चरण में रामगढ़ जिले के सभी घरों में सांसद के खिलाफ काला झंडा लगाया जाएगा। जिसमें सांसद गो बैक लिखा होने के साथ-साथ कुत्ता भौंकते चित्र दिखेगा। सभा के दौरान उन्होंने भाजपा जिलाध्यक्ष पप्पू बनर्जी की भी जमकर आलोचना की। उन्होंने कहा कि सांसद ने ऐसा जिलाध्यक्ष बनाया है, जिसने सिर्फ कार्यकर्ताओं को बेवकूफ बनाया है और उनसे पैसे एेंठने का काम किया है।

बंद समर्थकों ने सिद्धू-कान्हू जिला मैदान ने निकाला विशाल जुलूस, दस हजार से ज्यादा महिला-पुरुष हुए शामिल : लगभग छह घंटे से ज्यादा समय तक सड़क जाम के बाद बंद समर्थकों ने शहर में विशाल जुलूस निकाला। जिसमें दस हजार से ज्यादा महिला-पुरुष शामिल हुए। जुलूस छावनी फुटबॉल मैदान पहुंचकर सभा में तब्दील हो गया। जहां सभा को पूर्व मंत्री देवदयाल कुशवाहा, पूर्व विधायक लोकनाथ महतो, पूर्व विधायक शंकर चौधरी, हजारीबाग के पूर्व जिलाध्यक्ष के पी शर्मा, भाजपा नेता बलराम प्रसाद कुशवाहा, मधु गुप्ता, नमेंद्र चंचल, रामदेव प्रसाद, हिन्दू समाज पार्टी के दीपक सिसोदिया आदि ने भी संबोधित किया।

X
बंद से थमा शहर, रोजमर्रा की चीजांे को तरसे लोग
Click to listen..