--Advertisement--

काम नहीं करने वाली सहिया को ग्राम सभा कर हटाएं

जिस पंचायत की सहिया काम के प्रति एक्टिव नहीं हैं। वैसी सहिया को ग्राम सभा के माध्यम से सेवा मुक्त करें। बदले में...

Dainik Bhaskar

Aug 05, 2018, 03:40 AM IST
काम नहीं करने वाली सहिया को ग्राम सभा कर हटाएं
जिस पंचायत की सहिया काम के प्रति एक्टिव नहीं हैं। वैसी सहिया को ग्राम सभा के माध्यम से सेवा मुक्त करें। बदले में काम करने वाली इच्छुक महिला का चयन कर उन्हें सहिया की जिम्मेवारी सौंपे। ये बातें डीसी राजेश्वरी बी ने शनिवार को प्रखंड सभागार मांडू में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षात्मक बैठक के दौरान सभी मुखिया से कही। उन्होंने कहा कि गर्भावस्था स्वास्थ्य जांच का प्रतिशत मांडू में काफी कम है। यह काफी चिंताजनक है।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में रामगढ़ जिला की स्थिति देश में काफी पीछे है। इसके लिए उन्होंने सभी पंचायत प्रतिनिधियों को आगे आकर मांडू के आंकड़े को आगे बढ़ाने की जरूरत बताई। बैठक के क्रम में डीसी ने सभी आंगनबाड़ी केंद्रों में प्रेग्नेंसी किट उपलब्ध कराने की जानकारी दी। बताया कि महिलाओं को गर्भवती जांच कराने के लिए अब अस्पतालों में जाने की जरूरत नहीं है। कहा कि अब यह सुविधा आपके निकट के आंगनबाड़ी केंद्रों में भी उपलब्ध करा दी गई है। उन्होंने सभी जन प्रतिनिधियों से मांडू के आंकड़ों को बढ़ाने के लिए बढ़ चढ़ कर सहयोग करने की बात कही।

मौके पर सिविल सर्जन डाॅ मार्शल आईंद, एसीएमओ डाॅ अवधेश सिंहा, डीएमओ डाॅ केएन प्रसाद, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डाॅ अशोक पाठक, बीडीओ मनोज कुमार गुप्ता, सीओ ललन कुमार, चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ अशोक राम, डाॅ सैयद हिदायतुल्लाह, डाॅ धर्मेंद्र, डाॅ दीपक हेम्ब्रम, डीपीओ देवेंद्र श्रीवास्तव, अजीत कुमार, उदय कुमार, राहुल कुमार, रंजीत कुमार, संजीत कुमार के अलावा मुखिया लक्ष्मी देवी, फूलमति देवी, सीमा देवी, रोपन देवी, बिंदू देवी, कन्हैया रविदास, रंधीर सिंह, सूरजमनी देवी, अंजना देवी, संजय कुमार आदि मौजूद थे।

लोगों को निर्देश देती डीसी।

एक महीना में आंकड़े को बढ़ाने का दिया निर्देश

डीसी राजेश्वरी बी ने मांडू के कुजू, लईयो, बंजी, केदला, किमो समेत विभिन्न पंचायतों में एएनएसी रिपोर्ट के आंकड़े का प्रतिशत कम देख चिंता जताई। कहा कि कुजू में 50 सहिया व तीन एएनएम होने के बावजूद वहां की स्थिति काफी खराब है। उन्होंने सभी पंचायतों में एक महीने के अंदर एएनसी रिपोर्ट को बढ़ाने का निर्देश दिया। कहा कि दो महीने बाद पुनः आपके विभाग की समीक्षा की जाएगी।

पंचायत में कचड़ा मिला तो हटेंगे मुखिया

स्वच्छता को लेकर डीसी राजेश्वरी बी काफी गंभीर दिखी। उन्होंने कहा कि स्वच्छता के क्षेत्र में रामगढ़ जिला का आंकड़ा पूरे राज्य में बेहतर है। इसके लिए उन्होंने सभी मुखिया को अपनी पंचायतों को स्वच्छ रखने की जिम्मेवारी दी। कहा कि जिन पंचायतों में गंदगी का अंबार मिलेगा, वैसे मुखिया का वित्तीय पावर छीन कर उप मुखिया को दे दिया जाएगा। डीसी के इस फरमान के बाद सभी मुखिया सन्न रह गए।

आकस्मिक कोष बना

आदिम जनजाति बिरहोर परिवार के अलावा गरीब या असहाय लोगों के मदद के लिए पंचायतों में आकस्मिक कोष बनाया गया है। इसमें हर समय दस हजार की राशि मौजूद रहेगी। डीसी ने सभी मुखिया को पंचायतों का निरीक्षण कर गरीब लाभुकों का चयन कर उनका राशन कार्ड बनाने की बात कही। ताकि किसी व्यक्ति की मौत भूख से न हों। उन्होंने कोष का संचालन मुखिया व पंचायत सेवक के अधीन बताया।

प्रत्येक पंचायतों में खुलेंगे हाई स्कूल

शिक्षा को आगे बढ़ाने के लिए डीसी ने प्रत्येक पंचायतों में हाई स्कूल खोलने की जानकारी दी। कहा कि गांव के बच्चे अब अपनी पंचायतों में बने हाई स्कूल में हाई टेक पढ़ाई कर सकेंगे। पढ़ाई के लिए उनको अन्यत्र नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने सभी जन प्रतिनिधियों को स्वच्छता, स्वास्थ्य और शिक्षा के प्रति ध्यान देने की जरूरत बताई। डीसी ने बीडीओ और सीओ को समय समय पर योजनाओं का निरीक्षण करने की बात कही।

X
काम नहीं करने वाली सहिया को ग्राम सभा कर हटाएं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..