--Advertisement--

मांगा मुआवजा, ओएनजीसी प्लांट का गेट किया बंद

जमीन के बदले मुआवजा के साथ साथ रोजगार देने को लेकर ग्राम केरीबंदा के दर्जनों ग्रामीणों ने शनिवार को ओएनजीसी...

Dainik Bhaskar

May 27, 2018, 05:40 AM IST
मांगा मुआवजा, ओएनजीसी प्लांट का गेट किया बंद
जमीन के बदले मुआवजा के साथ साथ रोजगार देने को लेकर ग्राम केरीबंदा के दर्जनों ग्रामीणों ने शनिवार को ओएनजीसी प्लांट के समक्ष धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान सभी महिला पुरुष प्रबंधन के खिलाफ डुगडुगी बजाते हुए गांव से निकले और अपने साथ लाठी डंडा व तीर धनुष के साथ ओएनजीसी प्लांट पहुंचे। जहां लोगों ने प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और ओएनजीसी प्लांट के मुख्य द्वार को बंद कर दिया।

इस दौरान लोगों ने प्रबंधन के ऊपर ढुलमुल नीति अपनाने का आरोप लगाया। ग्रामीणों का नेतृत्व करते हुए ग्राम पूसन मांझी और दीपक टुडू ने कहा कि ओएनजीसी प्रभारी बृजगोपाल राॅय व अजय कुमार सिंह केरीबंदा के दलालों के साथ मिलकर जमीन के मूल रैयतों को अधिग्रहित जमीन के बदले मिलने वाले मुआवजा से अब तक वंचित रखे हैं। लोगों ने कहा कि प्रबंधन गांव के केवल एक दो व्यक्ति को अपने साथ मिलाकर अपने प्लांट में काम करवा रहा है।

जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। मौके पर अशोक किस्कू, सोमर हेम्ब्रम, छोटन हेम्ब्रम, सुनीलाल हेम्ब्रम, भरत टुडू, दिनेश हेम्ब्रम, तालो मरांडी, बैजनाथ टुडू, कैलू किस्कू, धनेश्वर हेम्ब्रम, लालदेव मुर्मू, बुधन टुडू, कुंती देवी, मधु देवी, बिंदु देवी, पूजा देवी, सुकरमनि देवी, मैनो देवी समेत काफी संख्या में महिला पुरुष मौजूद थे।

ओएनजीसी प्लांट के समक्ष प्रदर्शन करते लोग।

पुलिस के समझाने के बाद मामला हुआ शांत

मामले के सूचना मिलते ही मांडू पुलिस मौके पर पहुंचकर प्रदर्शन करने वाले लोगों को समझाया। इस दौरान एएसआई एसएन यादव ने जमीन में दावा करने वाले दूसरे पक्ष को प्लांट बुलाया। उन्होंने कहा कि दोनों पक्ष आपस में मिलकर सहूलियत का रास्ता निकालें। इसके बावजूद अगर बात नहीं बनती है तो दोनों पक्षों के खिलाफ विधिवत कार्रवाई की जाएगी। वार्ता के क्रम में उन्होंने प्लांट को बंद नहीं करने की चेतावनी दी।

X
मांगा मुआवजा, ओएनजीसी प्लांट का गेट किया बंद
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..