• Home
  • Jharkhand News
  • Medininagar
  • रांची से आई टीम ने पुलिस बल और आम लोगों को बताए ट्रैफिक के रूल
--Advertisement--

रांची से आई टीम ने पुलिस बल और आम लोगों को बताए ट्रैफिक के रूल

रांची से आई विशेष टीम ने पुलिस और आम नागरिकों को सदीक मंजिल चौक पर ट्रैफिक सिग्नल लाइट और यातायात नियम के बारे में...

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 01:55 PM IST
रांची से आई विशेष टीम ने पुलिस और आम नागरिकों को सदीक मंजिल चौक पर ट्रैफिक सिग्नल लाइट और यातायात नियम के बारे में प्रशिक्षण दिया। प्रशिक्षण के दौरान बताया गया कि हरी और लाल लाइट 45 सेकंड जलती है जबकि पीली लाइट 25 सेकेंड ही जलती है। रांची से आए अनुज कुमार ने बताया कि यदि कभी ज्यादा भीड़ हो जाती है या कभी कोई आपात स्थिति आ जाए तो उस ट्रैफिक लाइट को बंद भी किया जा सकता है। बंद करने के बाद उसको जब चाहे आप खोल भी सकते हैं। उन्होंने बताया कि इसमें जो समय दिया गया है उसमें आप स्वयं से परिवर्तन भी कर सकते हैं।

बताया- कैसे किया जाता है सिग्नल लाइट का मेंटेनेंस

अनुज कुमार ने बताया कि सामान्यता ठंडे के मौसम में सोलर प्लेट पर ओस जम जाने के कारण सिग्नल लाइट जलने में परेशानी होती है। उसके लिए सप्ताह में एक दिन प्लेट को कपड़े से साफ कर देना चाहिए।

सदीक मंजिल चौक पर ट्रैफिक व्यवस्था का निरीक्षण करती रांची से आई टीम।

परिवहन विभाग व ट्रैफिक पुलिस को दिया प्रशिक्षण

परिवहन विभाग व पुलिस विभाग की संयुक्त टीम को चारों तरफ से आ रही गाड़ी को लाइट के सहारे कैसे कंट्रोल करना है उसके बारे में बताया गया। प्रशिक्षण के दौरान लगभग दो दर्जन गाड़ियों को पकड़ा गया, जिसमें चैनपुर का शिव नारायण चौधरी नाबालिग था। उसे चेतावनी देकर छोड़ दिया गया।

लोग खुद बनें जागरूक : ट्रैफिक इंचार्ज : ट्रैफिक इंचार्ज अरविंद कुमार सिंह ने कहा कि सबसे पहले इसके लिए लोगों को खुद जागरुक होना होगा, तभी सभी लोगों को सिग्नल लाइट से फायदा हो सकता है।

जिला परिवहन पदाधिकारी जयदीप तिग्गा ने कहा कि लोगों द्वारा अगर सही ढंग से ट्रैफिक लाइट का पालन किया जाए तो, जाम की समस्या खत्म हो सकती है। उन्होंने बताया कि शहर में 7 जगहों पर ट्रैफिक सिग्नल लाइट लगाया गया है।