Hindi News »Jharkhand »Medininagar» पत्थलगड़ी की आड़ में समाज को तोड़ने की साजिश : अभाविप

पत्थलगड़ी की आड़ में समाज को तोड़ने की साजिश : अभाविप

मेदिनीनगर | अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने मिशनरी संस्थाओं द्वारा पत्थलगड़ी तथा उनकी आड़ में देश और समाज को तोड़ने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 28, 2018, 03:05 AM IST

मेदिनीनगर | अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने मिशनरी संस्थाओं द्वारा पत्थलगड़ी तथा उनकी आड़ में देश और समाज को तोड़ने की साजिश की कड़ी निंदा की है। इन संस्थाओं का एक ही ध्येय बन गया है। धर्म और अंधविश्वास का अाडंबर फैलाकर भारतीय संस्कृति को नष्ट करना चाहते हैं। यही कारण है कि महिलाओं का शोषण पत्थलगड़ी की क्षेत्र में आम हो गई है। चर्च एवं नक्सली पूरे राज्य में अस्थिरता का माहौल खड़ा करना चाहते हैं। देश के संविधान को आमजनों को दिग्भ्रमित कर शिक्षण संस्थाओं को बंद करना तथा गांव के ब्रेकेटिंग कर अफीम की खेती करने वाले देश विरोध ताकतों को समय रहते नष्ट करने की आवश्यकता है। ये बातें झारखंड प्रदेश छात्रा सह प्रमुख अमृता भट्ट ने कही। उन्होंने कहा कि खूंटी के कोचांग में हुई जघन्य अपराध के बदले दोषियों को फांसी की सजा होनी चाहिए ताकि भविष्य में ऐसी घटना की पुनरावृत्ति न हो। प्रदेश कार्यसमिति सदस्य नेहा कुमारी ने कहा कि पत्थलगड़ी के नाम पर प्रदेश के भोले भाले आदिवासियों को बरगलाने का काम किया जा रहा है। प्रदेश मंत्री श्वेतांग गर्ग ने कहा कि पत्थलगड़ी की घटना आम घटना नहीं है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Medininagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×