मेदिनीनगर

--Advertisement--

शिक्षक अपने दायित्वों का निर्वहन निष्ठा से करें

जिला स्तरीय शिक्षकों का पांच दिवसीय ज्ञान सेतु कार्यशाला का समापन शनिवार को हो गया। उल्लेखनीय है कि जिले में दो...

Dainik Bhaskar

Jun 17, 2018, 03:10 AM IST
जिला स्तरीय शिक्षकों का पांच दिवसीय ज्ञान सेतु कार्यशाला का समापन शनिवार को हो गया। उल्लेखनीय है कि जिले में दो कार्यशाला स्थल बनाए गए थे। एक बीआरसी मेदिनीनगर और दूसरा बीआरसी चैनपुर। दोनों स्थलों का पलामू जिले के सभी प्रखंडों से आए शिक्षकों का मोटिवेशनल कार्यशाला का आयोजन संपन्न हुआ।

इस अवसर पर पलामू क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक राम जतन राम ने कहा कि प्रत्येक शिक्षक को अपने कार्यों और दायित्वों का निर्वहन पूरी निष्ठा से करना चाहिए जिससे राज्य सरकार का ज्ञान सेतु कार्यक्रम सफल हो और उसके उद्देश्य की पूर्ति हो। हमारे सरकारी विद्यालयों के बच्चे भी अपने कक्षा स्तर के अधिगम को प्राप्त कर सकें। उल्लेखनीय है कि ज्ञान सेतु कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य राज्य के सरकारी विद्यालयों में प्राथमिक व उच्च प्राथमिक कक्षा में अध्ययनरत बच्चे जो अपने कक्षा स्तर के अधिगम नहीं रखते हैं उन बच्चों को उपचारात्मक कक्षा देकर उनके लर्निंग गैप को समाप्त कर अधिगम संवर्धन कराने के लिए प्रशिक्षण उपचारात्मक कक्षा देना है।

उच्च प्राथमिक कक्षा 6 से 9 के बच्चों को उनके सामान अधिगम स्तर के अनुसार उन्हें तीन समूहों लक्ष्य, सुगम और ‘सुबोध’ समूह में बांट कर बच्चों को जुलाई से फरवरी तक उपचारात्मक कक्षा चलनी है जिसमें पहले 45 कार्यदिवस तक पूरे दिन अलग अलग समूह में बच्चे को अध्यापन कार्य कराया जाएगा,जबकि बाद में फरवरी तक प्रति दिन दो पीरियड इस समूह में रखकर उन्हें उपचारात्मक कक्षा दी जाएगी। इस तरह से प्राथमिक और उच्च प्राथमिक में अध्ययन कर रहे सभी बच्चे को उनके कक्षा स्तर का अधिगम संवर्धन करा दिया जाएगा जिससे अपनी कक्षा से पिछड़ रहे बच्चे अपनी कक्षा स्तर पर अधिगम संवर्धन कर लेंगे एवं उनकी दक्षता अपनी कक्षा कक्ष के अनुसार प्राप्त हो जाएगा। इस अवसर पर चैनपुर बीईईओ जवाहर प्रसाद,सदर मेदिनीनगर बीईईओ पांडेय प्रेम प्रकाश शर्मा ,मुख्य उत्प्रेरक दिनेश कुमार शुक्ल व पलामू जिले के सभी प्रखंडों से आए शिक्षकगण जिन्होंने उत्प्रेरक का प्रशिक्षण लिया। इस कार्यशाला में मुख्य उत्प्रेरक दिनेश कुमार शुक्ल, ममता कुमारी, सतंजय कुमार व प्रभाकर थे। प्रत्येक ब्लॉक में प्रखंडस्तरीय ज्ञान सेतु का चार दिवसीय कार्यशाला 19 जून से प्रारंभ होगा।इसमें तीन दिवसीय ज्ञान सेतु कार्यशाला और एक दिन ई- विद्यावाहिनी का प्रशिक्षण, जिसमें जिले के सभी सरकारी विद्यालयों की मैॉनिटरिंग ऑनलाइन प्रोसेस से किया जाएगा, का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

X
Click to listen..