Hindi News »Jharkhand »Medininagar» उच्च अधिकारी से सीधे पत्राचार करने के आरोप में 17 शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगा

उच्च अधिकारी से सीधे पत्राचार करने के आरोप में 17 शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगा

जिला शिक्षा अधीक्षक ने जिले के 17 शिक्षकों से अपने आसन्न श्रेष्ठ पदाधिकारी के बजाय उच्च अधिकारी से सीधे पत्राचार...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 06, 2018, 03:20 AM IST

जिला शिक्षा अधीक्षक ने जिले के 17 शिक्षकों से अपने आसन्न श्रेष्ठ पदाधिकारी के बजाय उच्च अधिकारी से सीधे पत्राचार करने के संबंध में स्पष्टीकरण मांगा है। जिला शिक्षा अधीक्षक ने स्पष्टीकरण में लिखा है कि अपने उच्च अधिकारी को छोड़कर सीधे उपायुक्त, मंत्री व विधायक से पत्राचार किया गया है।

जो एक सरकारी सेवक के आचरण के विरुद्ध, जबकि इस संबंध में सरकार द्वारा बार-बार अनुदेश में निर्गत किया जाता है। फिर भी आप लोगों के द्वारा इसका अनुपालन नहीं किया गया है। इस संबंध में जिला शिक्षा अधीक्षक ने 17 शिक्षकों से पूछा है कि सरकारी सेवक के आचरण के उल्लंघन करने के आरोप में तत्काल प्रभाव से आपको क्यों न निलंबित कर दिया जाए। इस संबंध में सभी शिक्षकों से 1 सप्ताह के अंदर स्पष्टीकरण देने को कहा है।

डीएसई ने जिन शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगा है उनमें दुलही की सहायक शिक्षिका कुमारी संगीता सिंह, हार्वे स्कूल जपला की कंचन कुमारी, चिली बरवाडीह के विनोद कुमार जायसवाल, तोलरा बिश्रामपुर की नेहा सोनी, फुलवरिया की शबनम टोप्पो, बैराव हुसैनाबाद के अनूप कुमार सिंह, भैरवपुर हुसैनाबाद के पंचम कुमार सिंह, बांसदोहर लेस्लीगंज के धर्मेंद्र कुमार मेहता, बोड़ी चैनपुर के राम मदन राम, मनातू के मिट्ठू सिंह, गोइदी तरहसी के अखिलेश सिंह, निमिया चैनपुर के मंजू कुमारी, कजरमा पड़वा ओम प्रकाश लाल, बड़ेपुर हुसैनाबाद के आलोक कुमार, मध्य विद्यालय मनातू के कमला कुमारी तथा हैदर नगर मध्य विद्यालय के नीता कुमारी मिश्रा समेत अन्य के नाम शामिल हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Medininagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×