--Advertisement--

बंद कराने सड़क पर उतरे 307 समर्थक धराए, पुलस रही सतर्क

विपक्षी पार्टी के द्वारा झारखंड बंद का गुरुवार को पलामू जिला में मिलाजुला असर दिखा। आम दिनों की तरह बाजार क्षेत्र...

Dainik Bhaskar

Jul 06, 2018, 03:20 AM IST
विपक्षी पार्टी के द्वारा झारखंड बंद का गुरुवार को पलामू जिला में मिलाजुला असर दिखा। आम दिनों की तरह बाजार क्षेत्र खुला रहा। वहीं लंबी दूरी के गाड़ियों के परिचालन नहीं होने से इसका असर बाजार क्षेत्र में देखा गया। आम दिनों की तरह कचहरी, बाजार सहित अन्य क्षेत्रों में लोगों की भीड़ कम देखी गई। बंद समर्थक सुबह से छहमुहान, रेड़मा चौक, बैरिया, बाजार क्षेत्र में निकले। लेकिन जगह जगह पुलिस बल व अधिकारियों की तैनाती की गई थी। इससे बंद समर्थक चाह कर भी कुछ नहीं कर पाए। दोपहर 12 बजे तक सभी विपक्षी दलों के 307 नेताओं को पूरे जिले में पुलिस ने हिरासत में लिया। इधर मुख्यालय से 116 को शहर थाना व बैरिया प्रखंड कार्यालय स्थित कैंप जेल भेज दिया।

मेदिनीनगर बस स्टैंड में लंबी दूरी के गाड़ियों का परिचालन नहीं होने से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। बस स्टैंड में रांची, गुमला, गढ़वा, औरंगाबाद, रायपुर सहित अन्य जगहों की गाडिय़ां खड़ी रहीं। ग्रामीण क्षेत्र से शहरी क्षेत्र में आने वाली गाड़ियों के नहीं चलने से ऑटो चालकों की चांदी रही। वे लंबी दूरी के यात्रियों से मनमाना भाड़ा वसूल कर रहे थे।

भूमि अधिग्रहण बिल के संशोधन के खिलाफ सभी विपक्षी दलों के नेताओं ने निकल कर बंदी को सफल बनाने की कोशिश की। इसमें कांग्रेस, झामुमो, झाविमो, सीपीआई, माले, राजद, बसपा के नेता व कार्यकर्ता शामिल थे। सभी विपक्षी पार्टियों के नेता व कार्यकर्ता एक साथ बंद कराने निकले। लेकिन पुलिस प्रशासन ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

भूमि अधिग्रहण बिल संशोधन के खिलाफ विपक्षी दलों के नेता और कार्यकर्ता सुबह 5 बजे से छह मुहान चौक, बरिया चौक, रेड़मा चौक सहित अन्य जगहों पर बंद कराने निकले। लेकिन जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन के आगे उनकी एक न चली। नेता गाड़ियों को रोक रहे थे। तो पुलिस प्रशासन उन गाड़ियों को निकाल रही थी। इस दौरान विपक्षी दलों के नेताओं ने राज्य सरकार व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..