Hindi News »Jharkhand »Medininagar» शिक्षकों से कहा-संगठित रहें, तभी अपनी बात पहुंचा पाएंगे सरकार तक

शिक्षकों से कहा-संगठित रहें, तभी अपनी बात पहुंचा पाएंगे सरकार तक

झारखंड राज्य माध्यमिक शिक्षक संघ का वार्षिक अधिवेशन जेलहाता स्थित संघ भवन में आयोजित किया गया। अधिवेशन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 02, 2018, 03:30 AM IST

शिक्षकों से कहा-संगठित रहें, तभी अपनी बात पहुंचा पाएंगे सरकार तक
झारखंड राज्य माध्यमिक शिक्षक संघ का वार्षिक अधिवेशन जेलहाता स्थित संघ भवन में आयोजित किया गया। अधिवेशन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी मुख्य रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम की शुरुआत अतिथियों ने दीप प्रज्वलित कर की। मौके पर पूर्व मंत्री ने कहा कि संगठन में ही शक्ति है।

जब संगठन संगठित रहेगा, तभी हम मजबूती के साथ सरकार के पास अपना पक्ष रख सकते हैं। उन्होंने शिक्षकों को हरसंभव सहयोग करने की अपील की। साथ ही सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार द्वारा शिक्षकों को सम्मान दिया गया है, उसे सरकार छीनने का कार्य न करें। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनी तो शिक्षकों को पेंशन दिया जाएगा, जो रिटायरमेंट के दिन उन्हें विदाई के रुप में दिया जाएगा। वरिष्ठ कांग्रेसी नेता उमाशंकर सिंह कहा कि आज बदहाल शिक्षा व्यवस्था के लिए राज्य सरकार जिम्मेवार है। शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने में शिक्षकों की भूमिका अहम है। शिक्षक अपनी भूमिका का निर्वहन भी कर रहे है।

मगर वर्तमान सरकार शिक्षकों के साथ न्याय नहीं कर पा रही है। कार्यक्रम में सांगठनिक चुनाव भी संपन्न कराया गया। जिसमें पलामू जिला से संतोष कुमार को सचिव बनाया गया। कार्यकारिणी मंडल में अविनाश तिवारी, रंजीत किशोर, सुमित शंकर चौबे, अभिषेक दुबे, रोहित तिवारी, अनीता सिंह, जयशंकर प्रसाद सोनी, धर्मेंद्र कुमार को शामिल किया गया है। प्रमंडलीय संगठन सचिव प्रफुल्ल चंद्र मिश्रा, नरेंद्र पांडे, शिव बचन पांडे, ज्ञानचंद मिश्रा को बनाया गया है। राज्य प्रतिनिधि नरेश सिंह, मिथिलेश सिंह को बनाया गया है। कार्यक्रम का संचालन मंजूर अली ने किया।

मेदिनीनगर में कार्यक्रम में शिक्षक को संबोधित करते पूर्व मंत्री।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Medininagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×