--Advertisement--

800 किमी दूर पहुंचाया शव, गरीब पिता को पैसे भी दिए

विश्रामपुर पुलिस ने अपने कर्तव्य निष्ठा का परिचय देते हुए स्थानीय समाजसेवी के सहयोग से पश्चिम बंगाल के मृतक...

Dainik Bhaskar

Jul 30, 2018, 03:30 AM IST
800 किमी दूर पहुंचाया शव, गरीब पिता को पैसे भी दिए
विश्रामपुर पुलिस ने अपने कर्तव्य निष्ठा का परिचय देते हुए स्थानीय समाजसेवी के सहयोग से पश्चिम बंगाल के मृतक विभाष सरकार का शव 800 किलोमीटर दूर उनके पैतृक गांव रानीपुर पहुंचाया तथा स्थानीय ग्रामसभा एवं स्थानीय थाना के समक्ष उनके परिजनों को सम्मानपूर्वक शव को सौंप दिया। पुलिस ने दाह संस्कार हेतु उनके परिजनों को तीन हजार रुपया भी दिया। इस संबंध में एसपी इंद्रजीत महथा ने बताया कि 14 जुलाई को विभास की हत्या विश्रामपुर के कौडिया टोला के सुदामा महतो ने जहर पिलाकर कर दी थी। शव पुलिस को 19 जुलाई को जामुनदाहा नदी किनारे की झाड़ी से बरामद किया था।

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल के उतरी दिनापुर निवासी विभास की हत्या का मूल कारण लेबर ठेकेदारी के पैसा को लेकर आपसी मतभेद था। सुदामा ने लेबर ले जाने के एवज में पैसा की मांग की। मृतक द्वारा उसके एकाउंट में रुपया डाल दिया गया, लेकिन आरोपी ने लेबर नहीं भेजा तो उसने विश्रामपुर आकर पैसे की मांग की। आरोपी पैसा नहीं देना चाहता था। इसे लेकर दोनों में तू तू मैं मैं भी हुई और फिर हत्या कर दी गई।

विश्रामपुर पुलिस ने जब मृतक के परिजनों से संपर्क किया तब पता चला कि अत्यंत ही निर्धन परिवार से मृतक का संबंध है। उनके घर में उनके वृद्ध पिता काफी असहाय स्थिति में हैं। वे वहां से शव लेने भी नहीं आ सके, तब विश्रामपुर थाना प्रभारी चंद्रशेखर कुमार ने सामाजिक दायित्व का निर्वहण करते हुए शव को उनके पैतृक घर पहुंचाने का निर्णय लिया। घर पहुंचाकर उनके पिता को दाह संस्कार के लिए तीन हजार रुपये भी दिए। पलामू एसपी ने बताया कि विश्रामपुर पुलिस की यह संवेदनशीलता पुलिस की साख को और बढ़ाएगी। उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व भी विश्रामपुर थाना प्रभारी नावाबाजार में अंधविश्वास के खिलाफ व्यापक अभियान चला चुके हैं। उन्होंने डायन के आरोपी वृद्ध महिला के घर महिला के हाथ से बना खाना खाकर अंधविश्वास को तोड़ने का काम किया है।

शव ले जाने में गरीब परिवार ने असमर्थता जताई तो पुलिस ने पश्चिम बंगाल के एक गांव तक पहुंचाया शव

मृतक के पैतृक घर शव पहुंचाने गई पलामू पुलिस व मौजूद ग्रामीण।

X
800 किमी दूर पहुंचाया शव, गरीब पिता को पैसे भी दिए
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..