मेदिनीनगर

  • Hindi News
  • Jharkhand News
  • Medininagar
  • स्कूल में नहीं बनी थी 11 से लेकर 21 जून तक की हाजिरी, कैश बुक भी अपडेट नहीं
--Advertisement--

स्कूल में नहीं बनी थी 11 से लेकर 21 जून तक की हाजिरी, कैश बुक भी अपडेट नहीं

जिले के दो स्कूलों में जिला शिक्षा पदाधिकारी अरुणा नाथ ने औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान राजकीय कृत...

Dainik Bhaskar

Jun 24, 2018, 03:35 AM IST
जिले के दो स्कूलों में जिला शिक्षा पदाधिकारी अरुणा नाथ ने औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान राजकीय कृत नामधारी उच्च विद्यालय रजवाडीह में 11 से लेकर 21 जून तक किसी भी शिक्षक की हाजिरी नहीं बनी मिली। इसके अलावा भी कई अनियमितता पाई गई, जिसे ठीक करने का निर्देश डीईओ ने स्कूल प्रबंधन को दिया। डीईओ ने बताया कि उच्च विद्यालय रजवाडीह में उपस्थिति पंजी प्रधानाध्यापक द्वारा सत्यापित नहीं था। इसके अलावा कैश बुक भी अपडेट नहीं था। इस मामले को लेकर डीईओ ने बताया कि विद्यालय के प्रधानाध्यापक को आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया है। साथ ही उनसे पूरी अनियमितता को लेकर शो कॉज किया जाएगा।

डीईओ ने पोखराहा कला स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय का भी निरीक्षण किया। वहां स्थिति संतोषजनक मिली। डीईओ ने बताया कि विद्यालय में पठन पाठन का कार्य ठीक से चल रहा था। रसोईघर की साफ सफाई भी ठीक थी। वर्ग कक्षा में वायरिंग नहीं होने के कारण पठन पाठन का काम बिना पंखे के किया जा रहा था। उन्होंने बताया कि इस संबंध में पत्राचार कर विद्यालय में वायरिंग व्यवस्था व टीचर्स क्वार्टर को अविलंब ठीक कराने के लिए संवेदक को लिखा जाएगा। डीईओ ने बताया कि स्कूल चले चलाए अभियान के तहत पहले पढ़ाई फिर विदाई कार्यक्रम का आयोजन कस्तूरबा विद्यालय में 26 जून को किया जाना है। इसके लिए वार्डन को दिशा निर्देश दिया गया। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम के तहत नृत्य नाटिका, वाद विवाद व चित्रांकन के माध्यम से छात्राओं को पढ़ाई के महत्व को बताना है। निरीक्षण के दौरान उन्होंने क्लास 10 को शिक्षा के महत्व को बताया। उन्होंने छात्राओं को बताया कि आज के दौर में महिलाएं किसी काम में पीछे नहीं है, यह महिलाओं ने साबित कर दिया है। गांव की महिलाएं भी अब पढ़ लिखकर बहुत कुछ कर रही हैं। पढ़ाई पूरी करने के बाद शादी करने के बारे में सोचने की जरूरत है। अभी मन लगाकर पढ़ना जरूरी है। यह उम्र पढ़ने का है। पढ़ने कच्े दौरान पूरा ध्यान पढ़ाई पर केंद्रित किया जाना जरूरी है। डीईओ की मार्गदर्शन से छात्राएं काफी प्रोत्साहित हुई।

X
Click to listen..