--Advertisement--

अवैध खनन हुआ तो सीओ और थाना प्रभारी सीधे होंगे जिम्मेदार

जिला खनन टास्क फोर्स की बैठक में मनातू क्षेत्र से 10 दिन के भीतर अवैध उत्खनन बंद करने का निर्देश डीसी अमीत कुमार ने...

Dainik Bhaskar

Jul 22, 2018, 03:35 AM IST
जिला खनन टास्क फोर्स की बैठक में मनातू क्षेत्र से 10 दिन के भीतर अवैध उत्खनन बंद करने का निर्देश डीसी अमीत कुमार ने संबंधित अधिकारियों को दिया है। साथ ही अवैध उत्खनन की स्थिति में संबंधित क्षेत्र के अंचल पदाधिकारी और थाना प्रभारी को जिम्मेवार माना जाएगा। प्रत्येक माह सीओ व थाना प्रभारी को यह प्रमाण पत्र देना होगा कि उनके क्षेत्र में अवैध खनन नहीं हुआ है। बैठक में डीसी ने स्पष्ट किया कि हर हाल में अवैध उत्खनन रोकना है। इसके लिए सभी को अपनी जिम्मेवारी का निर्वहण ठीक से करना चाहिए।

पुलिस भी पकड़ सकेगी अवैध बालू कारोबारियों को

बैठक में डीसी अमीत कुमार ने स्पष्ट किया कि पुलिस भी अवैध उत्खनन कर ले जा रहे वाहन पकड़ सकेंगे। इसके लिए पुलिस अधिकारियों को तत्काल संबंधित थाना के सीओ या अनुमंडल पदाधिकारी या जिला खनन पदाधिकारी को सूचित करना होगा। फिर संबंधित सक्षम अधिकारी कागजात की जांच कर कार्रवाई करेंगे। उल्लेखनीय है कि बैठक में पुलिस प्रतिनिधि की ओर से इसका उल्लेख किया गया था कि पुलिस को तो वाहन पकड़ने का अनुमति नहीं है। फिर कैसे पुलिस अधिकारी वाहन को पकड़ सकेंगे। इसके बाद डीसी ने पुलिस अधिकारियों को वस्तुस्थिति समझाया और टीम भावना में काम करने की बात कही।

ओवर लोडिंग पर भी लगेगी रोक

डीसी ने टास्क फोर्स को निर्देश दिया कि जिले में काफी संस्था में ट्रक, ट्रैक्टर ओवर लोडिंग चल रहे है। ऐसे में सभी क्रशर संचालकों पर नजर रखें। जिस क्रशर से ओवर लोडिंग हो रही है वहां तत्काल पहुंचे और संचालक पर भी जुर्माना करें। उन्हें सख्त हिदायत दें कि वे क्षमता के अनुरूप ही माल दें, अन्यथा क्रशर का लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा। डीसी ने कहा कि ओवर लोडिंग के कारण छतरपुर की सड़कें खराब हो रही है। कई तरह की दुर्घटनाएं हो रही है। ऐसे में सख्त कार्रवाई की जाए।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..