--Advertisement--

डायन बिसाही में पति-पत्नी की हत्या, तीन लोग धराए

दोनों के शव ईटवाही जंगल से किए गए बरामद आरोपियों ने हत्या कर दोनों शवों को जंगल में फेंक दिया भास्कर न्यूज |...

Dainik Bhaskar

Jul 08, 2018, 03:40 AM IST
दोनों के शव ईटवाही जंगल से किए गए बरामद

आरोपियों ने हत्या कर दोनों शवों को जंगल में फेंक दिया

भास्कर न्यूज | मेदिनीनगर

डायन बिसाही के आरोप में मनातू थाना के सुरगूजा के टोला बेहराटाड़ में 62 वर्षीय सुकनी देवी और उसके पति इंद्रदेव उरांव की हत्या गांव के ही कुछ लोगों ने पीट पीटकर कर शुक्रवार को कर दी। इसके बाद शव को जंगल में फेंक दिया। इस संबंध में उनके पुत्र शिव उरांव ने मनातू थाना में शनिवार को प्राथमिकी दर्ज कराई है। प्राथमिकी के बाद तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया और उनकी निशानदेही पर ईटवाही जंगल से दोनों का शव बरामद कर लिया गया।

शिव ने पुलिस को बताया कि गांव के ही प्रेम उरांव, पंकज उरांव, कैला उरांव, राजेन्द्र उरांव समेत पांच लोगों ने उनके पिता 65 वर्षीय इंद्रदेव उरांव व उनकी मां सुकनी देवी पर डायन भूत व ओझागुणी का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को दस बजे जबरन घर से उठाकर पीटने लगे और जंगल की तरफ जबरदस्ती ले जाकर हत्या कर दी। मनातू थाना के एसआई योगेन्द्र पासवान ने बताया कि पंकज उरांव के पिता 55 वर्षीय राजकुमार उरांव 15 दिन पूर्व नशे की हालत में कोठा से गिर गए थे और उनकी मौत हो गई थी। इसके बाद उसके परिजनों ने गांव में मीटिंग कर कहा कि यह सब ओझा इंद्रदेव उरांव व उसकी प|ी सुकनी देवी के कारण हो रहा है। इसके बाद गांव वाले एक ओझा गुणी करने वाली महिला से मिले। उसने भी कहा कि इंद्रदेव व सुकनी के कारण ही यह घटना हुई है। वह एक-एक कर पूरे गांव को मार देगी।

इसके बाद पंकज व उसके परिजनों ने इंद्रदेव उरांव व सुकनी को निशाना बनाया। इधर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आराेपियों के घर छापामारी कर प्रेम उरांव, पंकज उरांव व कैला उरांव को गिरफ्तार कर लिया है। एसआई ने बताया कि गिरफ्तार तीनों आरोपियों ने पुलिस के सामने स्वीकार किया है कि उन लोगों ने ही दोनों की हत्या कर शव को ईटवाही जंगल में फेंक दिया। इसके बाद पुलिस ने बेहराटांड़ से करीब 10 किलोमीटर दूर ईटवाही जंगल से शव बरामद किया। शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल मेदिनीनगर भेज दिया है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..