Hindi News »Jharkhand »Medininagar» 30 फीट गहरी खाई में गिरा ट्रैक्टर, चालक की हुई मौत

30 फीट गहरी खाई में गिरा ट्रैक्टर, चालक की हुई मौत

थाना क्षेत्र अंतर्गत बाना गांव के समीप के बड़का बांध के पास खोखमा गांव से बाना लौटने आने के दौरान ट्रैक्टर पलट कर 30...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 08, 2018, 03:40 AM IST

30 फीट गहरी खाई में गिरा ट्रैक्टर, चालक की हुई मौत
थाना क्षेत्र अंतर्गत बाना गांव के समीप के बड़का बांध के पास खोखमा गांव से बाना लौटने आने के दौरान ट्रैक्टर पलट कर 30 फीट खाई में जा गिरी। इस हादसे में ट्रैक्टर ड्राइवर अजय भुइयां (30 वर्ष) की मौके पर ही गाड़ी से दबकर मौत हो गयी। मृतक खोखमा निवासी सीता भुइयां का बेटा था। यह दर्दनाक घटना शनिवार सुबह नौ बजे की है।

घटना के संबंध में मृतक के परिजन ने बताया कि खोखमा निवासी ट्रैक्टर मालिक रघुनाथ महतो ने पांच दिन पहले इस ट्रैक्टर को खरीदा था। शनिवार सुबह चालक इस ट्रैक्टर को लेकर खेत जुताई के लिए जा रहा था। इसपर सवार और दो गांव के और लोग भी साथ में जा रहे थे। ट्रैक्टर बांध से गुजरने के क्रम में रास्ता संकरा होने के कारण फिसलकर 30 फीट बांध के नीचे पलटनिया खाते हुए जा गिरा। इसमें दोनों आदमी कूदकर अपनी जान बचाने में कामयाब हो गए,जबकि चालक अजय भुइयां गाड़ी के साथ ही नीचे गिरकर दब जाने से अपनी जान गंवा बैठा।

सूचना मिलते ही तत्काल नावाबाजार के थाना प्रभारी अरविंद कुमार सिंह ने मौके पर एएसआई वीरू पासवान व रामचंद्र सिंह को सदलबल के साथ घटनास्थल पर भेजा। पुलिस ने घटना की पूरी तहकीकात के बाद शव का पंचनामा बनाकर पोस्टमार्टम हेतु सदर अस्पताल मेदिनीनगर भेज दिया। इधर मौके पर पहुंचे ब्लॉक प्रमुख रविंद्र पासवान, जिला परिषद सदस्य अनुज राम, समाजसेवी कलाम मियां, योगेश्वर साहू व उप मुखिया गिरजा शंकर राम समेत बड़ी संख्या में आसपास के लोग घटनास्थल पर पहुंचे। प्रखंड प्रमुख रविंदर पासवान ने कहा कि सरकार के द्वारा मिलने वाली सारी सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी। वही जिला परिषद अनुज राम ने कहा कि ग्राम स्वराज अभियान के तहत प्रत्येक शनिवार को पंचायत सचिवालय में बीमा हेतु कैंप लगाया जा रहा है। अगर इस गरीब का बीमा रहता तो आश्रित परिवार को दो लाख की राशि मिल जाती।

उन्होंने लोगों से अधिक से अधिक बीमा कराने का आग्रह किया। इधर चालक अजय भुइयां की असमय हुई मौत से पूरा परिवार बेसहारा हो गया है। अत्यंत गरीब परिवार से होने के कारण उसकी प|ी प्रतिदिन जंगल से लकड़ी जंगल से लाकर परिवार का मिलजुल कर किसी तरह परवरिश करती थी। वहीं उसका पति अजय गांव के आसपास ही ट्रैक्टर चलाकर अपने परिवार का भरण पोषण करता था।

नावाबाजार में खाई में गिरे दुर्घटनाग्रस्त ट्रैक्टर को देखते ग्रामीण।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Medininagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×