Home | Jharkhand | Medininagar | सदर, उटांरी रोड, चैनपुर, पाटन और विश्रामपुर अंचल अधिकारी के विरुद्ध प्रपत्र-क होगा गठित

सदर, उटांरी रोड, चैनपुर, पाटन और विश्रामपुर अंचल अधिकारी के विरुद्ध प्रपत्र-क होगा गठित

डीआरडीए सभागार में गुरुवार को भू-अर्जन एवं अंचल राजस्व की समीक्षा बैठक उपायुक्त पलामू अमीत कुमार की अध्यक्षता...

Bhaskar News Network| Last Modified - Jul 13, 2018, 03:40 AM IST

सदर, उटांरी रोड, चैनपुर, पाटन और विश्रामपुर अंचल अधिकारी के विरुद्ध प्रपत्र-क होगा गठित
सदर, उटांरी रोड, चैनपुर, पाटन और विश्रामपुर अंचल अधिकारी के विरुद्ध प्रपत्र-क होगा गठित
डीआरडीए सभागार में गुरुवार को भू-अर्जन एवं अंचल राजस्व की समीक्षा बैठक उपायुक्त पलामू अमीत कुमार की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में राष्ट्रीय उच्च पथ 75 एवं छतरपुर बाई पास रोड के लिए भूमि अधिग्रहण मामले की समीक्षा की गई । जिला भू-अर्जन पदाधिकारी बंका राम ने बताया कि एक-दो दिनों में भू-अधिग्रहण के लिए सर्वे टीम का पलामू आगमन होगा। उपायुक्त ने सदावाह पथ एवं दुर्गावती पहुंच पथ के लिए भू-अर्जन मद में प्राप्त मुआवजा राशि को कोर्ट अकांउट में जमा करने का निर्देश दिया। साथ ही संगालिम पदमा पहुंच पथ, छतरपुर हुसैनाबाद देवलीकला पथ, जपला, नवीनगर दंडा लालगढ़, छतरपुर, जपला, बेनीकला, सबानो, कर्मा, सेराई, सरईडीह, लेस्लीगंज, तरहसी, पथ निर्माण के लिए भू-अर्जन के मामलों की समीक्षा की।

इस दौरान सदर अंचल, उटारी रोड, चैनपुर, पाटन, विश्रामपुर अंचलों में ऑनलाइन म्यूटेशन के लंबित मामलों के लिए संबंधित अंचल अधिकारी के विरुद्ध प्रपत्र-क तैयार कर राजस्व विभाग को भेजने का निर्देश दिया गया। पड़वा, पांकी, छतरपुर, चैनपुर में ईं-लगान वसूली के लिए संबंधित अंचल अधिकारी को विशेष कैंप लगाकर ईं-लगान वसूली का निर्देश दिया गया। जिला भू-अर्जन पदाधिकारी को खास महल के अन्तर्गत लीज नवीकरण के लिए सभी लीजधारकों को अगले 10 दिनों तक नोटिस का तामिला सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। सभी अंचल अधिकारी को अपने-अपने अंचल में लंबित नीलाम पत्र वाद का निष्पादन एक सप्ताह के अंदर करने का निर्देश दिया गया। साथ ही वनाधिकार पट्टा का दावा प्राप्त कर जिला स्तरीय समिति में उपलब्ध कराने को कहा गया। आपदा प्रबंधन के तहत इस वर्ष अब तक वज्रपात से 12 लोगों की मृत्यु हुई है। मृतकों का अभिलेख तैयार कर मुआवजा भुगतान के लिए अग्रेतर कार्रवाई का निर्देश दिया गया।

सदर अंचल में दुबियाखाड़ के आगे स्लाटर हाऊस निर्माण और निर्माणाधीन मेडिकल काॅलेज के लिए 12 एकड़ अतिरिक्त भूमि के लिए अंचल अधिकारी सदर को प्रस्ताव देने का निर्देश दिया। जवाहर नवोदय विद्यालय के पास प्रेस क्लब निर्माण के लिए भूमि चिह्नित करने तथा जैव विविधता पार्क निर्माण के लिए सदर अंचल पदाधिकारी को भू-अर्जन का प्रस्ताव यथाशीघ्र उपलब्ध करने का निर्देश दिया गया। हुसैनाबाद एवं विश्रामपुर नगर निकाय क्षेत्र में प्रधानमंत्री आवास योजना, छतरपुर में वेडिंग जोन तथा विश्रामपुर में कचरा प्रबंधन केंद्र व डाली प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र निर्माण के लिए भू-अर्जन का निर्देश दिया गया।

भंडार, लेस्लीगंज एवं करूआ कला में विद्युत सब स्टेशन निर्माण के लिए जिला भू-अर्जन पदाधिकारी को भू-अर्जन के प्रस्ताव की जांच कर प्रतिवेदित करने का निर्देश दिया गया।

वृद्धा और विधवा पेंशन के मामले एक सप्ताह में निपटाने के निर्देश : वृद्धा एवं विधवा पेंशन के तहत आवेदन स्वीकृति के बावजूद भुगतान लंबित रहने के लिए मेदिनीनगर, चैनपुर, लेस्लीगंज, तरहसी, मनातू, सतबरवा, एवं पांडू के अंचल अधिकारी को सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा से समन्वय स्थापित कर एक सप्ताह में लंबित पेंशन भुगतान सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। हुसैनाबाद के अंचल अधिकारी को अभिलेख संधारण में निष्क्रियता के लिए स्पष्टीकरण पूछा गया तथा 19 जुलाई तक अभिलेख संधारित नहीं किए जाने पर प्रपत्र-क का गठन कर विभागीय कार्रवाई का निर्देश दिया गया। साथ ही अंचल अधिकारी हुसैनाबाद को उज्जवला योजना के तहत 4400 निर्धारित लक्ष्य के विरुद्ध अब तक मात्र 1150 केवाईसी संधारित करने के कारण कार्य पद्धति में सुधार लाने की चेतावनी दी गई। सभी अंचल अधिकारी को अपने-अपने अंचल में जनसंवाद के लंबित मामलों का निष्पादन अगले सीधा संवाद के पूर्व करने का निर्देश दिया गया।

बैठक में उपायुक्त सहित, सहायक समाहर्ता कुमार तारा चन्द, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी बंका राम, सदर अनुमंडल पदाधिकारी नंद किशोर गुप्ता, छतरपुर अनुमंडल पदाधिकारी राजेश प्रजापति, जिला जन संपर्क पदाधिकारी देवेंद्र नाथ भादुड़ी, जिला आपदा प्रबंधन पदाधिकारी एवं सभी अंचलों के अंचल अधिकारी उपस्थित थे।

आंतरिक राजस्व संग्रहण समिति ने की राजस्व की समीक्षा : इधर जिला स्तरीय आंतरिक राजस्व संग्रहण समिति की बैठक में खनन, उत्पाद, निबंधन, वाणिज्य कर, राष्ट्रीय बचत तथा नगर निगम के माध्यम से त्रैमासिक(अप्रैल, मई एवं जून) राजस्व संग्रहण की समीक्षा की गई। खनन विभाग द्वारा जिले के खनन क्षेत्रों में लीजधारकों द्वारा खनन कार्य के एवज में जमा किए जाने वाले रायल्टी एवं सेस के रूप में प्राप्त राजस्व की समीक्षा की गई। जिला खनन पदाधिकारी ने बताया कि जून में विभिन्न खनन कंपनी एवं लीज धारकों से 513 लाख की राजस्व उगाही की गई है। बरसात के कारण बालू खनन का कार्य अभी बंद है। बालू घाट से बालू उठाना कानूनन अवैध है। अवैध बालू उठाव के मामले में छापेमारी कर अवैध वाहनों को जब्त किया गया है। साथ ही ऐसे मामलों में जुर्माना भी वसूला गया है। उपायुक्त ने बताया की पांच हेक्टेयर तक का खनन लीज का लाइसेंस जिला स्तर से ही निर्गत किए जाने का प्रावधान है। उपायुक्त ने खनन पदाधिकारी को इसका प्रचार-प्रसार का निर्देश दिया।

उत्पाद विभाग द्वारा जिले में देसी मसालेदार एवं विदेशी शराब की बिक्री से प्राप्त राजस्व की जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि 285 लाख मासिक लक्ष्य के विरुद्ध जून माह में 60 प्रतिशत राजस्व की उगाही की गई हैं। उन्होंने बताया कि 21 वर्ष से कम उम्र के लोगों के द्वारा शराब का क्रय करना प्रतिबंधित है। एक दिन में एक व्यक्ति को अधिकतम तीन लीटर विदेशी शराब तथा अधिकतम छह बोतल देसी मसालेदार शराब खरीदने का अधिकार है। दुकानदार को शराब के बिक्री का कैशमेमो देना अनिवार्य है। उत्पाद अधीक्षक ने बताया की शहरी क्षेत्रों में स्थापित शराब दुकान 01 बजे से 04 बजे तक तथा 05 बजे संध्या से 10 बजे रात्रि तक एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 12 बजे दिन से 08 बजे रात्रि तक खोलने का निर्देश है।

जिला अवर निबंधक ने बताया की विभाग द्वारा निबंधन मद में 01 करोड़ 82 लाख रुपए राजस्व वसूली का लक्ष्य निर्धारित है। आँनलाइन, दाखिल खारिज तथा भूमि निबंधन के द्वारा राजस्व का आंतरिक संग्रहण किया जा रहा है। महिलाओं के लिए 01 रुपए में रजिस्ट्री का प्रावधान है। विवाह निबंधन के माध्यम से भी राजस्व की प्राप्ति होती है।

राष्ट्रीय बचत पदाधिकारी ने बताया की बचत अभिकर्ताओं के हड़ताल के कारण जून माह में अपेक्षित राजस्व संग्रहण नहीं हो पाया हैं। उपायुक्त ने राष्ट्रीय बचत पदाधिकारी को निर्देश दिया कि जिले में संचालित चिटफंड कंपनी की जांच कर प्रतिवेदन दें। जिले के अंचलों में ऐसी कंपनी संचालित होने पर अंचल अधिकारी एवं थाना प्रभारी संयुक्त रूप से जांच कर प्रतिवेदित करें। वाणिज्य कर विभाग द्वारा जीएसटी निबंधन के माध्यम से राजस्व वसूली तथा कंपनी व्यापारी एवं आपूर्तिकर्ताओं द्वारा जीएसटी रिटर्न जमा किया जा रहा है,जिससे राजस्व में वृद्धि हुई हैं। वाणिज्य कर पदाधिकारी ने बताया की 06 माह तक जीएसटी रिटर्न शून्य रहने पर वैसे प्रतिष्ठान का निबंधन रद्द कर दिया जाता है। बैठक में मेदिनीनगर नगर निगम सहित हुसैनाबाद, छतरपुर एवं विश्रामपुर नगर निकाय क्षेत्र में होल्डिंग टैक्स एवं अन्य माध्यमों से राजस्व वसूली की समीक्षा की गई। अनुमंडल पदाधिकारी सदर नंद किशोर गुप्ता ने बताया कि शिवाजी मैदान में डिज्नीलैंड मेला की डाक पूरी कर ली गई हैं। इसके एवज में 21 लाख 03 हजार रुपए का राजस्व प्राप्त होगा। बैठक में उपायुक्त सहित, सहायक समाहर्ता कुमार तारा चन्द, जिला खनन पदाधिकारी, उत्पाद अधीक्षक, राष्ट्रीय बचत पदाधिकारी, अवर निबंधक, वाणिज्य कर पदाधिकारी, नगर निकाय के पदाधिकारी एवं जिला जन संपर्क पदाधिकारी उपस्थित थे।

डीआरडीए सभागार में बैठक करते डीसी अमीत कुमार व अन्य।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now