• Hindi News
  • Jharkhand
  • Medininagar
  • प्राचार्यों से वीसी ने कहा-आप काम कीजिए नहीं तो हम कुर्सी पर आपको बैठने नहीं देंगे
--Advertisement--

प्राचार्यों से वीसी ने कहा-आप काम कीजिए नहीं तो हम कुर्सी पर आपको बैठने नहीं देंगे

मैं बहुत दूसरा टाइप का आदमी हूं अगर आप लोग काम नहीं करिएगा तो हम कुर्सी पर नहीं रहने देंगे। आपको सिर्फ कुर्सी पर...

Dainik Bhaskar

Aug 05, 2018, 03:40 AM IST
प्राचार्यों से वीसी ने कहा-आप काम कीजिए नहीं तो हम कुर्सी पर आपको बैठने नहीं देंगे
मैं बहुत दूसरा टाइप का आदमी हूं अगर आप लोग काम नहीं करिएगा तो हम कुर्सी पर नहीं रहने देंगे। आपको सिर्फ कुर्सी पर बैठने के लिए नहीं रखा गया है। वह जमाना चला गया कि आप सिर्फ बैठकर कॉलेज में बच्चों का एडमिशन लीजिएगा और परीक्षा का फॉर्म भरवाइएगा। ये बातें नीलांबर पीतांबर विश्वविद्यालय के वीसी डॉ. एसएन सिंह ने विभिन्न महाविद्यालयों के प्राचार्यों के समक्ष कही। वे शनिवार को योध सिंह नामधारी महाविद्यालय में वीसी डाॅ. एसएन सिंह की अध्यक्षता में झारखंड स्किल डेवलपमेंट मिशन सोसाइटी के एक्सेल कार्यक्रम से संबंधित बैठक को संबोधित कर रहे थे।

इस बैठक में वीसी एसएन सिंह ने कहा कि भारत सरकार का यह एक मिशन प्रोग्राम है। इसके तहत सभी युवाओं को 2022 तक हुनरमंद बनाना है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय इस संबंध में कुछ सुनने को तैयार नहीं है, आप लोगों का कोई इफ और बट नहीं चलेगा। उन्होंने कहा कि पहले चरण में 4 अंगीभूत कॉलेजों में यह प्रोग्राम शुरू किया गया है, जिसमें महाविद्यालय व टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस के बीच एमओयू किया गया है और शनिवार को विश्वविद्यालय के अंतर्गत 6 परमानेंट एफिलिएटेड कॉलेज हैं। उन्हें इस प्रोग्राम के शुरू करने के लिए टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस से आए हुए अधिकारियों से बात करके शुरू करना है। उन्होंने कहा कि हम नहीं चाहते हैं कि आप लोगों को जो सरकार ग्रांट देती है, उसको हम रोकें इसलिए सभी परमानेंट एफलिएटेड कॉलेज अपने यहां यह कार्यक्रम जल्द से जल्द शुरू कर दें।

उन्होंने बजट के संबंध में भी निर्देश दिया। कहा कि आप लोगों द्वारा कभी-कभी ऐसा बजट बनाकर दिया जाता है। जैसे लगता है उसको उठाकर रद्दी की टोकरी में फेंक दें। आप लोग जिस चीज में दो हजार खर्च होना चाहिए, उसका बजट ₹20हजार का देते हैं, जो नहीं चलेगा।

झारखंड कौशल विकास मिशन सोसाइटी के सीईओ अमर झा ने कहा कि जिस महाविद्यालय में यह प्रोग्राम चलाया जाएगा, उस महाविद्यालय को बच्चों के हिसाब से पैसा भी उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रत्येक महाविद्यालय में 50 प्रतिशत संबंधित महाविद्यालय के बच्चों का एडमिशन लिया जाएगा तथा 50 प्रतिशत बच्चे जो झारखंड के किसी भी क्षेत्र में रहेंगे और झारखंड के किसी भी महाविद्यालय में जाकर प्रवेश ले सकते हैं। इस मौके पर प्रो वीसी डॉक्टर पवन पोद्दार, रजिस्टर राकेश कुमार, टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस का अविनाश आनंद, आइएस एफएल के कार्यक्रम पदाधिकारी मुकेश सिंह, जेएस कॉलेज के प्राचार्य डॉ राणा प्रताप सिंह, मनिका कॉलेज के प्राचार्य डॉ महेंद्र राम व विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्य व शिक्षक उपस्थित थे।

मेदिनीनगर मंंे कार्यक्रम में मंचासीन एनपीयू के वीसी व अन्य।

X
प्राचार्यों से वीसी ने कहा-आप काम कीजिए नहीं तो हम कुर्सी पर आपको बैठने नहीं देंगे
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..