• Hindi News
  • Jharkhand News
  • Medininagar
  • खूंटी में नक्सलियों ने ड्राइवर को गोली मारकर ट्रेलर सहित जला दिया
--Advertisement--

खूंटी में नक्सलियों ने ड्राइवर को गोली मारकर ट्रेलर सहित जला दिया

झारखंड-बिहार बंद के दौरान नक्सलियों ने दरिंदगी की हद कर दी। खूंटी-तमाड़ रोड पर सोयको थाना क्षेत्र के आड़ा घाटी में...

Dainik Bhaskar

Aug 04, 2018, 03:40 AM IST
खूंटी में नक्सलियों ने ड्राइवर को गोली मारकर ट्रेलर सहित जला दिया
झारखंड-बिहार बंद के दौरान नक्सलियों ने दरिंदगी की हद कर दी। खूंटी-तमाड़ रोड पर सोयको थाना क्षेत्र के आड़ा घाटी में एक ट्रेलर चालक को गोली मार दी। फिर उसी ट्रेलर में रखकर जला दिया। अमृतसर निवासी ड्राइवर जोगा सिंह लोहे की पाइप लदा ट्रेलर लेकर राउरकेला से जमशेदपुर जा रहे थे। उन्हें झारखंड बंद की जानकारी नहीं थी।

सूचना मिलते ही सोयको थाना प्रभारी भगवान प्रसाद झा पुलिस बल के साथ आड़ा घाटी पहुंचे। वहां ट्रेलर जल रहा था और नक्सली जा चुके थे । पुलिसकर्मियों और कुछ ट्रेलर चालकों ने आग बुझाई। लेकिन तब तक जोगा सिंह की मौत हो गई थी। कुछ वाहन चालकों ने पुलिस को बताया कि करीब 15 नक्सलियों ने ट्रेलर रुकवाया और जोगा सिंह को गोली मार दी। उन्हें ट्रेलर में डाल दिया। उसी ट्रेलर से डीजल निकालकर उसे आग लगा दी।

पाइप लेकर राउरकेला से जमशेदपुर जा रहे थे अमृतसर के जोगा सिंह

पुलिस ने जब तक आग बुझाई, जब तक ड्राइवर की मौत हो चुकी थी।

पुलिस ने रोका था, पर नहीं रुके जोगा सिंह

जोगा सिंह के ट्रेलर के पीछे चल रहे ट्रेलर चालक सतराम सिंह ने बताया कि उन्हें नक्सली बंदी की जानकारी नहीं थी। तमाड़ रोड पर पहुंचने के बाद उन्हें बंद का अहसास हुआ। तब तक वे लोग कूड़ापूर्ति पहुंच गए थे, जहां पुलिस वालों ने तीन-चार गाड़ियों को रोक दिया। मगर जोगा सिंह यह कहते हुए वहां से निकल गए कि चल पुत्तर, जहां मरना लिखा होगा, वहीं मरेंगे। कुछ देर बाद वह भी पीछे से निकले। करीब चार किलोमीटर दूर जाते ही देखा कि जोगा सिंह की गाड़ी जल रही थी।

पुलिस अलर्ट पर थी और नक्सली बड़ी घटना को अंजाम दे गए

नक्सलियों ने एक सप्ताह पहले ही खूंटी समेत पूरे इलाके में पोस्टर चिपकाकर तीन दिन तक शहीद सप्ताह मनाने और तीन अगस्त को झारखंड-बिहार बंद का ऐलान किया था। इसे देखते हुए पुलिस अलर्ट पर थी। खूंटी-तमाड़ रोड पर गश्त भी कर रही थी। लेकिन पुलिस को धता बताते हुए नक्सली इस बड़ी घटना को अंजाम देकर चलते बने। जहां घटना हुई, वहां से तीन किमी की दूरी पर कूड़ापूर्ति व हुंठ में पुलिस कैंप है।

बंदी का कहां क्या असर

गुमला में व्यापक असर रहा। अधिकतर दुकानें बंद रहीं। गाड़ियां नहीं चलीं। रामगढ़ में कोयला खदानों और लोहरदगा में बॉक्साइट खदानों में ढुलाई ठप रहीं। लंबी दूरी की गाड़ियां नहीं चलीं। वहीं मेदिनीनगर बस स्टैंड से कोई भी गाड़ी बाहर नहीं निकलीं। गुआ में रूंगटा और आधुनिक की खदानें बंद रहीं। चक्रधरपुर से रांची के बीच गाड़ियों के पहिए पूरी तरह थमे रहे। मनोहरपुर में चिरिया माइंस में भी कामकाज पूरी तरह से ठप रहा।

X
खूंटी में नक्सलियों ने ड्राइवर को गोली मारकर ट्रेलर सहित जला दिया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..