--Advertisement--

पद के प्रलोभन का प्रमाण मिला, सीबीआई जांच हो

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सह झारखंड प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारिणी सदस्य पलामू के प्रभारी हृदयानंद मिश्रा ने कहा...

Dainik Bhaskar

Jul 10, 2018, 03:45 AM IST
पद के प्रलोभन का प्रमाण मिला, सीबीआई जांच हो
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सह झारखंड प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारिणी सदस्य पलामू के प्रभारी हृदयानंद मिश्रा ने कहा की छह विधायकों के खरीद-फरोख्त को प्रमाणित करता हुआ भाजपा के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र राय द्वारा लिखा पत्र सार्वजनिक कर झारखंड की जनता के सामने बीजेपी का असली चेहरा उजागर कर दिया है।

उक्त बातें उन्हाेंने पत्रकारों से बातचीत के क्रम में कही। उन्होंने कहा कि पद के प्रलोभन का प्रमाण तो पहले से ही जनता को साफ दिख रहा था कि बीजेपी ने झाविमो से गए छह विधायकों में से दो को मंत्री पद व तीन को बोर्ड-निगम में जगह दी। उन्होंने कहा कि अब इस पत्र के सार्वजनिक होने से पैसे के खेल भी प्रमाणित हो गया। बीजेपी के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष केवल जनता को गुमराह करने के लिए सक्षम जांच एजेंसी से जांच की बात का सामना करने की बात कह रहे हैं। प्रदेश में उनकी ही सरकार है, अविलंब सीबीआई जांच की अनुशंसा सरकार को करनी चाहिए।

हृदयानंद मिश्र ने कहा कि बीजेपी द्वारा सीबीआई जांच की अब तक अनुशंसा नहीं होना ही इस पत्र की सत्यता का पहला प्रमाण है। दम है तो सरकार आज ही सीबीआई जांच की अनुशंसा करे, दूध का दूध व पानी का पानी सामने आ जाएगा। रही बात पत्र के फर्जी होने न होने की बात तो जांच में तो सारी बातें सामने आ ही जाएंगी। पत्र अगर फर्जी ही है तो बीजेपी कुनबा में इतनी हड़बड़ाहट व घबराहट नहीं होनी चाहिए।

हृदयानंद मिश्रा।

X
पद के प्रलोभन का प्रमाण मिला, सीबीआई जांच हो
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..