Hindi News »Jharkhand »Medininagar» लातेहार सीएस कार्यालय का प्रधान लिपिक 80 हजार रिश्वत लेते गिरफ्तार

लातेहार सीएस कार्यालय का प्रधान लिपिक 80 हजार रिश्वत लेते गिरफ्तार

एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने पुलिस लाइन स्थित हनुमान मिष्ठान भंडार के बगल से लातेहार सिविल सर्जन कार्यालय के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 10, 2018, 03:45 AM IST

लातेहार सीएस कार्यालय का प्रधान लिपिक 80 हजार रिश्वत लेते गिरफ्तार
एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने पुलिस लाइन स्थित हनुमान मिष्ठान भंडार के बगल से लातेहार सिविल सर्जन कार्यालय के प्रधान लिपिक विजय कुमार को 80 हजार रुपए रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया है। घूस एएनएम से निलंबन मुक्ति के लिए मांगा गया था। बाद में उनके घर पर भी छापा पड़ा, जहां से तीन लाख रुपए और बरामद किए गए। एसीबी के इंस्पेक्टर मिथिलेश कुमार सिन्हा ने बताया कि उनपर आय से अधिक संपत्ति का भी मामला चलेगा।

इस संबंध में ब्यूरो के अधिकारियों ने बताया कि लातेहार जिला के महुआडाड़ थाना अंतर्गत ओरसा गांव की एएनएम दोमनिया तिर्की ने एसीबी को लिखित आवेदन देकर घूस मांगे जाने की शिकायत की थी। आवेदन में दोमनिया तिर्की ने बताया था कि कार्यस्थल से अनुपस्थित रहने के कारण उसे निलंबित कर दिया था।

निलंबन से मुक्त कराने के लिए सिविल सर्जन लातेहार के पास संचिका बढ़ाने के लिए प्रधान लिपिक 1.5 लाख रुपया मांग रहे थे। बड़ी मुश्किल से एक लाख रुपया में बात बनी। ब्यूरो को दिए आवेदन में तिर्की ने इस बात का उल्लेख किया था कि वह रिश्वत नहीं देना चाहती है ऐसे में उनकी मदद की जाए। एसीबी की टीम ने प्राप्त सत्यापन कराया। सत्यापन में रिश्वत मांगने की बात सही पायी गई। इसके बाद सत्यापन प्रतिवेदन के आधार पर गिरफ्तारी हुई। एसीबी का पलामू जिला में यह 11 ट्रैप है।

घर से भी मिली तीन लाख की संपत्ति, आय से अधिक संपत्ति अर्जन का भी मामला चलेगा

गिरफ्तार लातेहार सिविल सर्जन कार्यालय का प्रधान लिपिक।

नहीं देना चाहती थी पैसे, पर मजबूर थी : एएनएम

शिकायतकर्ता एएनएम दोरमनी तिर्की का कहना है कि जब मुझे निलंबित किया गया, तो मैंने बड़ा बाबू विजय गुप्ता से निलंबन की स्थिति जानने के लिए संपर्क किया। संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि निलंबन हटाने के लिए डेढ़ लाख रुपया लगेगा। फिर बातचीत करने पर उन्होंने कहा कि एक लाख रुपय दे दो तुम्हारा सारा काम हो जाएगा। मैंने 80 हजार पहले और बाकी बाद में देने की बात कही तो वे मान गए। उन्होंने बताया कि मामले की शिकायत मैंने 4 जुलाई को एसीबी से की।

लिपिक ने चाय पीने को कहा और आ गई निगरानी टीम

पैसे को लेकर बातचीत फाइनल होने के बाद सोमवार को सुबह 8:30 बजे एएनएम ने बड़ा बाबू को फोन किया। बड़ा बाबू ने एएनएम को पुलिस लाइन के पास हनुमान मिष्ठान भंडार के पास पैसे देने को बुलाया। मिष्ठान भंडार के पास आकर एएनएम ने बड़ा बाबू को 80 हजार रुपया दे दिया तब बड़ा बाबू ने कहा कि मैडम थोड़ा चाय पी लीजिए। इसी बीच एसीबी की टीम ने आकर विजय कुमार को गिरफ्तार कर लिया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Medininagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×