• Hindi News
  • Jharkhand
  • Murhu
  • सुख-दुख में विचलित होने की जरूरत नहीं : बंधन
--Advertisement--

सुख-दुख में विचलित होने की जरूरत नहीं : बंधन

मुरहू के डौगड़ा में प्रार्थना करतीं युवतियां भास्कर न्यूज | खूंटी सरना धर्म सोतो समिति की डौगड़ा केंद्र में...

Dainik Bhaskar

May 14, 2018, 03:30 AM IST
सुख-दुख में विचलित होने की जरूरत नहीं : बंधन
मुरहू के डौगड़ा में प्रार्थना करतीं युवतियां

भास्कर न्यूज | खूंटी

सरना धर्म सोतो समिति की डौगड़ा केंद्र में रविवार को दो दिवसीय स्थापना दिवस सह सरना प्रार्थना सभा हुई। मौके पर धर्म गुरु बंधन तिग्गा ने कहा कि सुख-दुख में विचलित होने की जरूरत नहीं है। यह प्रकृति का नियम है। विपत्तियों में भी भगवान सिंगबोंगा की अराधना कर मंगल की कामना करें।

वहीं, सोमा कंडीर ने कहा कि दिन-दुखियों एवं गरीबों की सेवा ही ईश्वर की सेवा है। उनकी सेवा ऊंच-नीच से ऊपर उठकर करनी चाहिए। महादेव मुंडा ने कहा कि भगवान बिरसा मुंडा के पदचिह्नों का अनुसरण करने से ही धर्म-समाज और संस्कृति को सुरक्षित रखा जा सकता है। कार्यक्रम में बंदगांव, उलिहातू, खूंटी, चिंयल, बीरबांकी, कामडा, खजुरदाग, अरहरा शाखा के सैकड़ों अनुयायी शामिल हुए। मौके पर धर्म गुरु लाशकर सोरेन, भनीलाल केरकेट्टा, संजय कुजूर, सुगना पाहन, मंगरा पाहन, बेला मुंडरी, मथुरा कंडीर, भैयाराम मुंडा, बुधराम मुंडा आदि लोगों ने अपने विचारों से अनुयायियों को अनुग्रहित किया।

X
सुख-दुख में विचलित होने की जरूरत नहीं : बंधन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..