Hindi News »Jharkhand »Nala» बोर्ड परीक्षा के लिए शिक्षकों को दी गई ट्रेनिंग

बोर्ड परीक्षा के लिए शिक्षकों को दी गई ट्रेनिंग

1970 के दशक में अंतिमदफा हुई आठवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा के बाद अब फिर से उस कक्षा में पढ़ने लिखने वाले छात्र...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 18, 2018, 02:50 AM IST

1970 के दशक में अंतिमदफा हुई आठवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा के बाद अब फिर से उस कक्षा में पढ़ने लिखने वाले छात्र छात्राओं को बोर्ड परीक्षा से गुजरना होगा। यह बात दीगर है कि विभिन्न कारणें से छात्र छात्रा मध्य विद्यालय स्तर में कमजोर रहने के बाद माध्यमिक परीक्षा के समय बेहतर रिजल्ट पाने से पिछड़ जाते है। ऐसे में सरकार द्वारा संचालित यह बोर्ड परीक्षा उन बच्चों का भविष्य संवारने में कारगर साबित होगा। कुछ ऐसी ही चर्चा इन दिनों बुद्धिजीवियों के बीच होने लगी है। इस संबंध में परीक्षा का आयोजन, संचालन एवं इससे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी देने के लिए शनिवार को मध्य विद्यालय नाला के प्रशाल में शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया गया। प्रखंड क्षेत्र के सभी सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालयों में शैक्षणिक सत्र 2017-18 में अध्ययनरत कुल 81 स्कूल के कक्षा 8 के छात्र-छात्राओं की परीक्षा लेने संबंधी सरकारी निर्देश की जानकारी दी गई। प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी एग्नेश सोरेन ने कहा कि आठवीं की बोर्ड परीक्षा का आयोजन करने से माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक परीक्षा का रिजल्ट बेहतर होने की संभावना है। उन्होंने बताया गया कि जैक के निर्देश पर ही परीक्षा का संचालन होगा जिसमे नाला प्रखंड के दोनों शैक्षणिक अंचल के 2004 छात्र-छात्रा भाग लेंगे। बताया गया नामांकित विद्यालयों में वहां के छात्र छात्रा परीक्षा देंगे लेकिन वीक्षक दूसरे विद्यालय के शिक्षकों को प्रतिनियुक्त किया जायेगा। 20 फरवरी से 27 तक प्रस्तावित परीक्षा प्रारंभ को लेकर तैयारी के बारे में भी विस्तृत जानकारी दी गई। कुल 6 विषयों की परीक्षा ली जाएगी। इसके तहत परीक्षा 20 फरवरी से 27 फरवरी से तक होगी। जिला स्तर पर परीक्षा संचालन के लिए कमेटी गठित की गई है। कमेटी परीक्षा की पूरी प्रक्रिया की निगरानी करेगी। जैक के निर्देश के तहत 8वीं की बोर्ड परीक्षा गृह केंद्रों पर होगी, लेकिन गार्डिंग दूसरे विद्यालय के शिक्षक करेंगे। आठवीं की बोर्ड परीक्षा जिले के सभी सरकारी, मान्यता प्राप्त व आरटीई के तहत मान्यता के लिए आवेदन देने वाले स्कूलों में आयोजित की जाएगी। परीक्षा संचालन की जिम्मेदारी जिले के सभी प्रखंड संसाधान केंद्र की होगी। वहीं सभी विद्यालयों को प्रश्नपत्र परीक्षा के दिन ही प्रखंड संसाधान केंद्र से उपलब्ध कराए जाएंगे। उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन प्रखंड स्तर पर किया जाएगा। जो प्रखंड संसाधन केंद्र के प्रभारी के साथ जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा मनोनीत पदाधिकारी की देखरेख में संपन्न होगा। परीक्षा से संबंधित प्रश्नपत्र 100-100 नंबर के होंगे। इस प्रशिक्षण में विपद वरण कविराज, सीखारानी चांद, मनोज कुमार, तपन कुमार यादव, नवीन कुमार, विवेक यादव, प्रदीप कुमार मंडल आदि शिक्षकों के अलावा सुनील कुमार मंडल, परिमल मंडल, तारक नाथ साधु, दीनुनाथ मंडल आदि साधन सेवी मुख्यरूप से उपस्थित थे।

प्रशिक्षण के दौरान उपस्थित शिक्षक।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×