नाला

--Advertisement--

बांग्ला कीर्तन के अंतिम दिन भजनों पर झुमे लोग

कार्यक्रम के दौरान बांग्ला कीर्तन प्रस्तुत करते कलाकार। भास्कर न्यूज | नाला होली के मौके पर नाला प्रखंड के...

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 03:00 AM IST
बांग्ला कीर्तन के अंतिम दिन भजनों पर झुमे लोग
कार्यक्रम के दौरान बांग्ला कीर्तन प्रस्तुत करते कलाकार।

भास्कर न्यूज | नाला

होली के मौके पर नाला प्रखंड के मोहजोड़ी गांव स्थित गिरिधारी मंदिर में चार दिवसीय बांग्ला कीर्तन कार्यक्रम भक्तिमय माहौल में संपन्न हुआ। बर्द्धमान जिला के मशहुर कलाकार निरूपमा मंडल ने श्री कृष्ण -राधा के बाललीला, किशोर लीला, द्वारका लीला का वर्णन कर उपस्थित सैकड़ों महिला पुरुष श्रोताओं को मोहित किया। उन्होंने कहा कि भगवान अवतार गौराग महाप्रभु ने जाति धर्म, ऊंच नीच प्रथा से ऊपर उठकर मानव का कल्याण के लिए भक्ति आंदोलन चलाकर समाज को एकसूत्र में बांधने का सफल प्रयास किया है।

इस कार्यक्रम के दौरान खमार, बड़वा, सुंदरपुर, बाघमारा, हदलबांक, मनिहारी आदि आसपास क्षेत्र के श्रोताओं ने बांग्ला कीर्तन के साथ साथ धार्मिक नृत्य का आनंद उठाया। बांग्ला कीर्तन के साथ साथ भजन एवं ज्ञान वर्धक उपदेश सुनने के लिए महिला पुरुष श्रोता देर रात तक मंच के पास बैठे रहे। प्रभु द्वारा काजी उद्धार एवं जोगाई माधाई को उद्धार लीला आज भी प्रासंगिक है। मंदिर प्रागंण में अन्नकूट महोत्सव, होली उत्सव, महा शिवरात्रि, रामनवमी आदि धार्मिक अनुष्ठान काफी धूमधाम के साथ मनाया जाता है। इस धार्मिक कार्यक्रम के अंतिम दिन कुजंविलास कीर्तन प्रसंग के उपरांत आयोजक कमेटी द्वारा उपस्थित श्रद्धालुओं के बीच खिचड़ी प्रसाद का वितरण किया गया। इस अवसर पर स्थानीय विधायक रवीन्द्रनाथ महतो, पूर्व कृषि मंत्री सत्यानंद झा के अलावा समाज के गणमान्य लोग एवं कीर्तन प्रेमियों ने काफी संख्या में भाग लिया। इस धार्मिक कार्यक्रम का शांतिपूर्ण संचालन में नंदलाल मंडल, स्वपन कुमार मंडल, उत्तम कुमार महतो, नदीया नंद महतो, प्रबोध कुमार महतो, सहदेव महतो, मंटु चन्द्र महतो, धीरेन्द्र नाथ महतो आदि ने अहम भूमिका निभाई है।

X
बांग्ला कीर्तन के अंतिम दिन भजनों पर झुमे लोग
Click to listen..