Hindi News »Jharkhand »Nala» जरमुंडी में घटिया सड़क निर्माण को लेकर ग्रामीणों ने काम बंद कराया

जरमुंडी में घटिया सड़क निर्माण को लेकर ग्रामीणों ने काम बंद कराया

दुमका जिले के जरमुंडी प्रखंड अंतर्गत भालकी पंचायत के कैरो गांव में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 14, 2018, 03:05 AM IST

दुमका जिले के जरमुंडी प्रखंड अंतर्गत भालकी पंचायत के कैरो गांव में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्माणाधीन पीसीसी सड़क का काम ग्रामीणों ने जबरन बंद करा दिया है।

ग्रामीणों का आरोप है कि संवेदक द्वारा सड़क निर्माण कार्य में निर्धारित मानदंड के अनुसार निर्माण नहीं कर घटिया तरीके काम कराया जा रहा है। जिससे सड़क काफी दिनों तक नहीं चलेगी और एक साल में ही टूट सकती है। जिससे सड़क निर्माण की गुणवत्ता खतरे में है। नियमों को धत्ता बताकर मनमाने तरीके से कार्य करानेवाले संवेदक के निर्माण कार्य की जांच कराने तथा समुचित कार्रवाई की मांग ग्रामीणों ने की। वहीं मौके पर काम बंद कराने के बाद ग्रामीणों ने जमकर नारेबाजी भी की। कहा कि इसकी शिकायत वरीय अधिकारियों से की जाएगी। काम में कोताही गांववाले बर्दाश्त नहीं करेंगे। जब तक नियमों के अनुसार काम नहीं होगा तब तक विरोध जारी रहेगा। वहीं काम बंद होने के बाद सभी मजदूर लौट गए। बताया जाता है कि गुणवत्तापूर्ण निर्माण की मांग को लेकर कैरो के ग्रामीणों ने मंगलवार को जमकर बवाल काटा और घटिया निर्माण कार्य को जबरन बंद करवाया। विरोध कर रहे ग्रामीणों ने संवेदक पर समुचित कार्रवाई की मांग भी की। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत मटकारा से कैरो गांव तक संवेदक संजीव कंस्ट्रक्शन के द्वारा सड़क निर्माण का कार्य कराया जा रहा है। सड़क की कुल लंबाई 1.320 किमी है। जिसके निर्माण की लागत 60.327 लाख रुपये है। ग्रामीणों का कहना है कि सड़क निर्माण कार्य में घटिया सामग्री का इस्तेमाल किया जा रहा है। भालकी पंचायत के पूर्व मुखिया अरूण मोदी ने बताया कि प्राक्कलन के अनुसार पुराना पीसीसी के ऊपर 6 इंच पीसीसी ढलाई करना है। जबकि नए पीसीसी निर्माण में 8 इंच की ढलाई करनी है। लेकिन संवेदक के द्वारा पीसीसी के ऊपर साढ़े तीन इंच से चार इंच ही पीसीसी ढलाई किया जा रहा है। काम बंद कराकर विरोध करने वालों में प्रधान जोबलाल कोड़ा, संजय कोड़ा, बीगन कोड़ा, मानिक कोड़ा, जटलू कोड़ा, विरेन्दर कोड़ा, रामप्रवेश कोड़ा, मकनू कोड़ा, सुरेश कोड़ा, सोनालाल कोड़ा आदि दर्जनों ग्रामीण उपस्थित थे। वहीं निर्माण कर रही कंपनी के लोगों का कहना है कि नियम के अनुसार ही काम हो रहा है। यदि चाहें तो अधिकारी जांच कर सकते हैं।

सड़क का काम बंद कराकर विरोध जताते ग्रामीण।

पूर्व मुखिया ने भी लगाया आरोप

पूर्व मुखिया अरूण मोदी का कहना है कि जो सीमेंट लगाया जा रहा है। वह आईएसआई मार्का का होना चाहिए। सीमेंट गिट्टी बालू की मात्रा प्राकलन के अनुरूप नहीं है। गिट्टी 5.8 के साथ-साथ बड़ी मात्रा में आधा इंच का मिलाया जाता है। संवेदक द्वारा कराये जा रहे घटिया निर्माण कार्य को लेकर सभी संबंधित दोषियों पर कानून सम्मत कार्रवाई हो और कार्य की उच्चस्तरीय जांच के उपरांत संवेदक पर कड़ी कार्रवाई की जाए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×