Hindi News »Jharkhand »Nala» कलश यात्रा के साथ 24 कुंडिय गायत्री महायज्ञ प्रारंभ

कलश यात्रा के साथ 24 कुंडिय गायत्री महायज्ञ प्रारंभ

कानगोई सामुदायिक भवन के समीप चार दिवसीय 24 कुंडीय श्रद्धा संवर्धन गायत्री महायज्ञ एवं युवा सृजन समारोह का शुभारंभ...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 28, 2018, 03:10 AM IST

कानगोई सामुदायिक भवन के समीप चार दिवसीय 24 कुंडीय श्रद्धा संवर्धन गायत्री महायज्ञ एवं युवा सृजन समारोह का शुभारंभ मंगलवार को भव्य कलश यात्रा के साथ प्रारंभ हुआ। कलश यात्रा में 108 कन्या शामिल हुइ। कलश यात्रा सामुदायिक भवन से कानगोई केबिन गेट होते हुए चेक पोस्ट शिव मंदिर होते हुए वापस सामुदायिक भवन में प्रस्थान किया। लाए गए कलश को विधिपूर्वक गायत्री महायज्ञ स्थल पर स्थापित किया गया। जिससे पूरे क्षेत्र भक्तिमय हो उठा। इस कलश यात्रा में काफी संख्या में महिला पुरुष श्रद्धालु शामिल हुए। महायज्ञ 27 मार्च से 30 मार्च तक चलेगा। यज्ञ के अंतिम दिन गायत्री महायज्ञ एवं विविध संस्कार, पूर्णाहुति एवं टोली विदाई के साथ संपन्न किया जाएगा। 24 कुंडीय श्रद्धा संवर्धन गायत्री महायज्ञ गायत्री परिवार चित्तरंजन व मिहिजाम द्वारा किया जा रहा है। जिसमें हरिद्वार से सुरेंद्रनाथ वर्मा-टोली नायक, उमाकांत वर्मा-सहायक टोली नायक, गोरा प्रसाद साहू-गायक, चंद्रकांत मोर्य-वादक, महेश तिवारी-सारथी सहित गायत्री महायज्ञ परिवार के संजीव, मधु देवी, भगवानी पांडे, शबनम देवी, माला सिन्हा, आशा देवी मौजूद रहीं।

चार दिवसीय 24 कुंडीय श्रद्धा संवर्धन गायत्री महायज्ञ के दौरान निकली कलश यात्रा में शामिल महिलाएं।

राधा गोविंद मंदिर में बांग्ला कीर्तन सुनने पहुंचे श्रद्धालु

भास्कर न्यूज|नाला

प्रखंड क्षेत्र के मालडीहा में राधा गोविद मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के दूसरे दिन बांग्ला कीर्तन का आयोजन हुआ। वीरभूम-मैनाडाल के प्रभात मित्र ठाकुर ने भगवान श्रीकृष्ण के लीला प्रसंग का सरल वर्णन किया। भगवान के बाल लीला और राधा कृष्ण का अमर प्रेम तथा नवद्वीप से बृंदावन तक की मर्मस्पर्शी कथा सुनने के लिए भक्त वैष्णव देर रात तक मंच के निकट बैठे रहे। गौरतलब है कि इस कीर्तन अनुष्ठान के माध्यम से भगवान के अमृत कथा वर्णन, धार्मिक नृत्यगीत एवं अनमोल उपदेश सुनकर श्रोताओं का न सिर्फ मन भरता है बल्कि चिंतन और जीवन मार्ग में भी बदलाव आ जाता है। इस धार्मिक पर्व के मौके पर मंगलवार को नर नारायण सेवा का भी आयोजन हुआ जिसमें आसपास गांव के भक्त वैष्णव एवं आम नागरिकों ने भाग लिया। उत्सव के मौके पर आयोजित दो दिवसीय धार्मिक कार्यक्रम से क्षेत्र में भक्ति और उत्साह का माहौल बना रहा।

बांग्ला यात्रागान में उमड़ी श्रोताओं की भीड़

नाला|नाला प्रखंड के बंदरडीहा पंचायत स्थित मथुरा गंाव में रामनवमी पर्व के अवसर पर बांग्ला यात्रा गान का आयोजन हुआ। सोमवार रात को आयोजित इस कार्यक्रम का लुत्फ उठाने के लिए मोहजोड़ी, पिंडारगडि़या, हदलबांक, मनिहारी, जगन्नाथपुर, जोरकुडी, बृंदाबनी आदि आसपास गांव के सैकड़ों महिला पुरूष श्रोता पहुंचे। नाट्य कार महादेव हालदार द्वारा रचित सामाजिक गतिविधि पर आधारित ’’आज के बाबार फांसीर दिन’’ का सफल मंचन करने में स्थानीय कलाकारों ने अहम भूमिका निभाई है। वीरभूम जिले स्थित लाभपुर के कलाकारों के अभिनय में भाग लेने से यात्रा प्रेमी देर रात तक झुमते रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×