Hindi News »Jharkhand »Nala» असुविधा के बावजूद खेती कर उपजाया गेहूं अाैर सरसाें

असुविधा के बावजूद खेती कर उपजाया गेहूं अाैर सरसाें

नाला|सिचांई की असुविधा के बावजूद नाला प्रखंड क्षेत्र में गेहूं एवं सरसों की उपज बेहतर होने से किसानों में खुशी है।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 28, 2018, 03:10 AM IST

नाला|सिचांई की असुविधा के बावजूद नाला प्रखंड क्षेत्र में गेहूं एवं सरसों की उपज बेहतर होने से किसानों में खुशी है। ज्ञात हो कि इस बार किसानों ने सरसों एवं गेहूं का खेती मेहनत के साथ काफी बेहतर तरीके से किया है। जिसके एवज में फसल की उपज भी काफी अच्छी हुई। प्रखंड क्षेत्र के सियाकेटिया, पांजुनीया, सुन्दबाड़ी, पाकुड़ीया, दलाबड़, महेशमुण्डा, नवडीहा,मधुबन, जोरकुड़ी, कुचाकुड़ी, बादलपुर, जगन्नाथपुर, पिपला, बन्दरडीहा, कड़ैया, सालुका, खैरा, पैकबड़, देवलकुण्डा, सागजुड़िया सहित पूरे क्षेत्र में सिचांई के सीमित संसाधनों में गेहूं अाैर सरसों की उपज इस बार किसानों के मनपसंद हुई है। जिससे किसानों की चेहरे में काफी खुशी देखी जा रही है। क्षेत्र के किसानों का कहना है कि इस प्रखंड के किसानों ने काफी लगन एवं मेहनत से कृषि कार्य करते हैं। यहां के किसान पूर्ण रुप से कृषि पर ही आश्रित है। किसानों के द्वारा नदी, जोड़िया, तालाब आदि से डीजल पम्प के सहारे से सिचांई कर खेती कार्य करते हैं। इस क्षेत्र में किसानों के लिए वर्षो पूर्व हर खेत तक पानी ले जाने के उद्देश्य से नहर का निर्माण किया। लेेकिन आज तक क्षेत्र केे किसानों को नहर का लाभ नहीं मिल सका। अजय बराज नहर हमेशा पानी विहीन रहता है। धान, गेंहू, सरसों की खेती के अंतिम पड़ाव में जब सिंचाई की जरुरत होती है तब नहर, तालाब, नदी, जोड़िया सारे के सारे नाखुश दिखते है। यही वजह है कि मेहनतकश किसान चाहकर भी उन्नत और मनपसंद खेती से दूर रह जाते है। नहर प्रबंधन और प्रशासन की अगर दिलचस्पी होती तो नाला विधानसभा क्षेत्र के किसान सिर्फ खेती कार्य में ही सालभर खुशहाल रहते।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×