Hindi News »Jharkhand »Nala» कलश यात्रा में 108 कन्याओं ने उठाया जल

कलश यात्रा में 108 कन्याओं ने उठाया जल

नाला प्रखंड के पांजुनिया मोड़ में नव निर्मित राधा-गोविद मंदिर का शाेधन संस्कार सह प्राण प्रतिष्ठा समारोह सोमवार...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 27, 2018, 03:15 AM IST

नाला प्रखंड के पांजुनिया मोड़ में नव निर्मित राधा-गोविद मंदिर का शाेधन संस्कार सह प्राण प्रतिष्ठा समारोह सोमवार को धार्मिक गतिविधियों के साथ संपन्न हुआ। अहले सुबह मंदिर परिसर से भव्य कलश यात्रा निकली। जिसमें 108 कन्याओं ने तीन किमी दूर स्थित कुरूली नदी तक पैदल यात्रा करते हुए मंत्रोच्चारण के साथ वहां से पवित्र कलश उठाया। इस मौके पर पूजारी मनोज कुमार झा ने वैदिक रीति रिवाज के साथ नदी के पवित्र जल से पूजार्चना किया तथा मुख्य यजमान बनमाली मंडल के अलावा अन्य सभी ने कलश उठाया। बैंड बाजा के साथ मंगल गीत गाते हुए वे नाला-आसानसोल मुख्य सड़क पलन, संगाजोड़ी मौजा होते हुए मंदिर तक पहुंचे। इस शाेभा यात्रा का दर्शन करने के लिए नीलजुडि़या, घोलजोड़, सियारकेटिया, मधुवन, घुटबोना आदि गांव के महिला पुरूष एवं बच्चे काफी संख्या में पहुंचे। मालुम हो कि कुंडहित-पालाजोड़ी के पूजारी शांतिमय भट्टाचार्य एवं आचार्य मनोज कुमार झा के सान्निध्य में शुद्धिकरण, कलश स्थापन, पंचदेवता का आवाह्न-पूजन आदि धार्मिक विधान के साथ प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम शुरू हुआ। पूजारी के द्वारा प्रस्तुत चंडीपाठ एवं हवन का दर्शन-श्रवण के लिए भी श्रद्धालु काफी संख्या में पहुंचे। स्थानीय जन सहयोग से यहां कई वर्ष के प्रयास के बाद भगवान का भव्य मंदिर बनाया गया है। आज मंदिर का उद्घाटन समारोह, प्राण प्रतिष्ठा एवं भजन कीर्तन प्रारंभ होने से इस संपूर्ण क्षेत्र में भक्ति और उत्साह का वातावरण बना रहा। इस मौके पर पूर्व कृषि मंत्री सत्यानंद झा, समाज सेवी माधव चंद्र महतो, कराली चरण सरखेल, तपन कुमार झा, शिवकुमार मंडल, सिद्धेश्वर मंडल, सुजन कुमार माजि, उत्तम गोरांई, सुबोध मंडल, बिमल कुमार मंडल आदि समाज सेवी एवं स्थानीय नागरिक काफी संख्या में उपस्थित थे। विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस बल के साथ पुलिस पदाधिकारी तैनात थे।

कलश यात्रा में शामिल कन्याएं।

नाॅर्थ स्थित पहाड़ी मंदिर का अखंड पाठ संपन्न

मिहिजाम/चित्तरंजन |रामनवमी के अवसर पर सुंदर पहाड़ी नाॅर्थ स्थित पहाड़ी शिवमंदिर में 24 घंटे का अखंड रामायण पाठ संपन्न हो गया। इस अवसर पर भव्य झांकी निकाली गई जिसमेंं राम सीता, लक्ष्मण हनुमान, आदि को परंपरागत वेशभूषा में शहर भर भ्रमण कराया गया। इस अवसर पर काफी संख्या में क्षेत्र भर के श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया और मंगलकामना की।

भास्कर न्यूज|नाला

नाला प्रखंड के पांजुनिया मोड़ में नव निर्मित राधा-गोविद मंदिर का शाेधन संस्कार सह प्राण प्रतिष्ठा समारोह सोमवार को धार्मिक गतिविधियों के साथ संपन्न हुआ। अहले सुबह मंदिर परिसर से भव्य कलश यात्रा निकली। जिसमें 108 कन्याओं ने तीन किमी दूर स्थित कुरूली नदी तक पैदल यात्रा करते हुए मंत्रोच्चारण के साथ वहां से पवित्र कलश उठाया। इस मौके पर पूजारी मनोज कुमार झा ने वैदिक रीति रिवाज के साथ नदी के पवित्र जल से पूजार्चना किया तथा मुख्य यजमान बनमाली मंडल के अलावा अन्य सभी ने कलश उठाया। बैंड बाजा के साथ मंगल गीत गाते हुए वे नाला-आसानसोल मुख्य सड़क पलन, संगाजोड़ी मौजा होते हुए मंदिर तक पहुंचे। इस शाेभा यात्रा का दर्शन करने के लिए नीलजुडि़या, घोलजोड़, सियारकेटिया, मधुवन, घुटबोना आदि गांव के महिला पुरूष एवं बच्चे काफी संख्या में पहुंचे। मालुम हो कि कुंडहित-पालाजोड़ी के पूजारी शांतिमय भट्टाचार्य एवं आचार्य मनोज कुमार झा के सान्निध्य में शुद्धिकरण, कलश स्थापन, पंचदेवता का आवाह्न-पूजन आदि धार्मिक विधान के साथ प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम शुरू हुआ। पूजारी के द्वारा प्रस्तुत चंडीपाठ एवं हवन का दर्शन-श्रवण के लिए भी श्रद्धालु काफी संख्या में पहुंचे। स्थानीय जन सहयोग से यहां कई वर्ष के प्रयास के बाद भगवान का भव्य मंदिर बनाया गया है। आज मंदिर का उद्घाटन समारोह, प्राण प्रतिष्ठा एवं भजन कीर्तन प्रारंभ होने से इस संपूर्ण क्षेत्र में भक्ति और उत्साह का वातावरण बना रहा। इस मौके पर पूर्व कृषि मंत्री सत्यानंद झा, समाज सेवी माधव चंद्र महतो, कराली चरण सरखेल, तपन कुमार झा, शिवकुमार मंडल, सिद्धेश्वर मंडल, सुजन कुमार माजि, उत्तम गोरांई, सुबोध मंडल, बिमल कुमार मंडल आदि समाज सेवी एवं स्थानीय नागरिक काफी संख्या में उपस्थित थे। विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस बल के साथ पुलिस पदाधिकारी तैनात थे।

महायज्ञ में कृष्ण के बाल रूप का किया बखान

महायज्ञ के दौरान झांकी प्रस्तुत करते कलाकार।

भास्कर न्यूज|मुरलीपहाड़ी

नारायणपुर के नैयाडीह गांव में चल रहे लघु रूद्र महायज्ञ के दूसरे दिन के रात्रि प्रवचन कार्यक्रम में श्रीमद्भगवत गीता की परवाचिका अर्चना दीदी ने भगवान श्री कृष्ण के बाल रूप का वर्णन किया। घुटरन के बल चलते बाल रूप को प्रवचन के माध्यम से सुनाया गया। कृष्ण के बाल रूप के बाद किशोरावस्था में राधा मिलन की कथा के साथ-साथ उनके अलौकिक रूपों का वर्णन करते हुए राधाकृष्ण की झांकी का अवलोकन कराया। प्रवचन के कार्यक्रम के दौरान प्रवचन सुन रहे लोगो में इस अद्भुत और अद्वितीय दृश्य को देखकर एकाएक काफी उत्साहित हो उठे। जिस कारण पूरे पंडाल का वातावरण भक्तिमय हो गया। प्रवचन के दौरान दीदी अर्चना ने सभी भक्तों को हरि की कथा का रसपान कराती रही। प्रवचन के मध्य राधाकृष्ण की झांकी के समय सुन्दर भजन गाकर श्रोताओ को मंत्रमुग्ध करती रही। लोग इनके भजन और प्रवचन को अपने जीवन में उतारने का भी प्रण लिया। सोमवार की रात भगवान के अन्य रूपों की चर्चा प्रवचन के माध्यम से किया जायेगा। इस दौरान प्रवचन पंडाल श्रद्धालु भक्तों से उमङ रहा है। लोग भक्ति की हिलोरे लेते देखे जा सकते है। इस कार्यक्रम में स्थानीय ग्रामीणों का योगदान देखा जा रहा है। इस भक्ति मय कार्यक्रम में गौतम मंडल, आदित्य मंडल, श्यामसुंदर मंडल, छत्रधारी राय सहित अन्य कई यज्ञ कमिटि के सदस्यो की उपस्थिति रही।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×