• Hindi News
  • Jharkhand News
  • Nala
  • झरिया कोयलांचल में उठा विरोध का स्वर प्रदर्शन के बीच घंटों बाधित रहा आवागमन
--Advertisement--

झरिया कोयलांचल में उठा विरोध का स्वर प्रदर्शन के बीच घंटों बाधित रहा आवागमन

भास्कर न्यूज | झरिया/अलकडीहा/तिसरा/सिंदरी/जोरापोखर/भगतडीह एससी-एसटी की धारा में उच्च न्यायालय द्वारा संशोधन...

Dainik Bhaskar

Apr 03, 2018, 03:20 AM IST
झरिया कोयलांचल में उठा विरोध का स्वर प्रदर्शन के बीच घंटों बाधित रहा आवागमन
भास्कर न्यूज | झरिया/अलकडीहा/तिसरा/सिंदरी/जोरापोखर/भगतडीह

एससी-एसटी की धारा में उच्च न्यायालय द्वारा संशोधन किए जाने के विरोध में कई संगठनों के लोग सड़क पर उतर आए। झरिया कोयलांचल के अलावा सिंदरी में मिला जुला असर रहा। कोलियरी क्षेत्रों में डिस्पैच पर आंशिक असर देखा गया। झरिया, बस्ताकोला, तिसरा और चासनाला में बंद समर्थकों ने सड़कों को जाम कर दिया। झरिया में अंचलाधिकारी के वाहन के शीशे तोड़ दिया। पुलिस ने अंत में हल्का बल प्रयोग किया। बंद समर्थकों को खदेड़ा। घटनास्थल से तीन मोटरसाइकिल जब्त की। इन सभी स्थानों से करीब दो सौ से भी अधिक गिरफ्तारियां की गई। गिरफ्तार बंद समर्थकों ने झरिया थाना के अलावा संबंधित थाने परिसर में रखा गया। झरिया थाना परिसर में भी बंद समर्थकों ने नारेबाजी करते रहे। पुलिस ने बंद समर्थकों को बाद में निजी मुचलके पर रिहा कर दिया। बंदी के दौरान झरिया-धनबाद, झरिया-सिंदरी, झरिया-बलियापुर मार्ग कई घंटे तक अवरुद्ध रहा। बंद समर्थकों ने कई स्थानों पर बवाल काटा, सड़कों पर टायर जलाकर विरोध किया। इससे यात्रियों काे काफी परेशानी हुई। कई स्थानों पर स्कूली वाहन और एम्बुलेंस को भी रोका गया।सिंदरी में संविधान बचाओं संघर्ष मोर्चा और आदिवासी समाज ने जुलूस निकाल सिंदरी के अांबेडकर चौक पर धरना दिया। इसका नेतृत्व त्रिभुवन चौधरी, श्याम लाल रजक, रविश्वर मरांडी आदि कर रहे थे। जोड़ापोखर में 38 के पार्षद जय कुमार ने बंद का समर्थन करते हुए कहा कि भारत बंद ऐेतिहासिक रहा है। भारत बंद का समर्थन करते हुए बहुजन समाज पार्टी धनबाद जिला अध्यक्ष मदन मोहन राम के नेतृत्व में सभी सदस्य एवं पदाधिकारी काला बिल्ला लगाकर रोड पर प्रदर्शन किया एवं शांतिपूर्वक बंदी का समर्थन किया।

धनबाद में भारत बंद के दौरान टायर जलाकर प्रदर्शन करते बंद समर्थक।

शुरुआती दौर में ही कर ली गई थी नेताओं की गिरफ्तारी

बंदी से निपटने के लिए पुलिस ने मुकम्मल व्यवस्था कर रखी थी। शुरुआती दौर में जो भी नेता सड़क पर दिखे उन्हें हिरासत में ले लिया गया। लोजपा के मुन्द्रिका पासवान, बिनोद पासवान, मुनीलाल राम, अवधेश यादव,अर्जुन पासवान, धर्म पासवान, रूदल पासवान, रामसेवक पासवान, किशोरी पासवान, शिवदत पासवान,नरेश पासवान, प्रजा पासवान, पंकज पासवान आदि को थाना लाया गया। दिन के करीब 11:30 बजे के बाद युवाओं की टोली मोटरसाइकिल से विभिन्न क्षेत्राें में जुलूस निकाला। झरिया के इंदिरा चौक पर स्थिति पुलिस और युवाओं के साथ बिगड़ गई। घटनास्थल पर सिंदरी डीएसपी प्रमोद कुमार केशरी और सीआे केएन सिंह पहुंच गए। इस दौरान उन्होंने समझाने का प्रयास किया, लेकिन युवाओं की टोली मानने को तैयार नहीं थे। अंत में पुलिस ने बंद समर्थकों को खदेड़ दिया। इसे पूर्व बस्ताकोला में गायत्री मंदिर के पास बंद समर्थकों ने सुबह आठ बजे से ही मुख्य मार्ग को करीब पांच घंटे तक अवरूद्ध कर रखा था।

एससी-एसटी में छेड़छाड बर्दाश्त नहीं

चासनाला के पाथरडीह मोहन बाजार, नुनूडीह, डिनोबिली मोड़, पाथरडीह रेलवे गेट, सुदामडीह, चासनाला आदि जगहों पर बंद का मिला-जुला असर देखा गया। इस दौरान छिटपुट दुकानें बंद रहीं, जबकि सिंदरी-झरिया मुख्य सड़क पर बंद के विभिन्न समर्थकों ने पाथरडीह रेलवे गेट के समक्ष प्रदर्शन और नारेबाजी की तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह एवं सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश दीपक मिश्रा का पुतला दहन किया। तिसरा के एमओसीपी में लोगों ने सड़क जाम कर दिया। बीच सड़क पर बैठकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। कहा एससी-एसटी में छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सड़क जाम होने से वाहनों की लंबी कतारें लग गई। जुलूस निकालकर लोगों ने जयपुर मोड़ एमओसीपी कुइया मोड़ आदि स्थानों की दुकानो को बंद करवा दिया। सड़क जाम करने वालों में कमल देवराम राम, निर्मल रजवार, रामवदन राम, रितेश निषाद, उषा पासवान, रामस्वरूप पासवान आदि थे। घनुडीह में राजेंद्र पासवान के नेतृत्व में सड़क जाम किया।

X
झरिया कोयलांचल में उठा विरोध का स्वर प्रदर्शन के बीच घंटों बाधित रहा आवागमन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..