• Home
  • Jharkhand News
  • Nala
  • फतेहपुर में भारी सुरक्षा के बीच निकला रामनवमी का अखाड़ा
--Advertisement--

फतेहपुर में भारी सुरक्षा के बीच निकला रामनवमी का अखाड़ा

भास्कर न्यूज|फतेहपुर/बिन्दापाथर रविवार को रामनवमी व भगवान श्रीराम का जन्माेत्सव क्षेत्र में भक्ति, उत्साह के...

Danik Bhaskar | Mar 26, 2018, 03:40 AM IST
भास्कर न्यूज|फतेहपुर/बिन्दापाथर

रविवार को रामनवमी व भगवान श्रीराम का जन्माेत्सव क्षेत्र में भक्ति, उत्साह के साथ मनाया गया। रामनवमी के मौके पर सुबह से ही क्षेत्र के फतेहपुर, बिन्दापाथर, खैरा, गेड़िया, मंझलाडीह, बड़वा, मोहनवॉक, तिलाकी, सालपतड़ा, बाघमारा, डुमरिया, तोड़ो, लखियाबाद, धुतला, दिघरिया, पालाजोड़ी, तम्बाजोड़, चापुड़िया, बमनकनाली, जलांई, नामुजलांई, ढाड़, पिपला, मोहजोड़ी, प्रजापेटिया सहित पूरे क्षेत्र के विभिन्न बजरंगवली मंदिरों में पूजा आर्चना एवं ध्वज स्थापित करने के लिए जन सैलाब उमड़ पड़ी। जिससे पूरे क्षेत्र में भक्ति का माहौल बना रहा। रविवार को चैत्र मास की नवमी तिथि को राम नवमी मनाई गइ। इसी दिन अयोध्या के राजा दशरथ के यहां भगवान श्रीराम का जन्म हुआ था। इसलिए सभी भक्त इस दिन को श्रीराम जन्मोत्सव के रूप में मनाते हैं। लोगों ने मनचाहा फल, सुख-समृद्धि, आर्थिक रुप से मजबूती, संकट को हरने आदि के लिय मंदिरों में माथा टेकते हुए पूजा आर्चना किया। रामनवमी सह भगवान श्रीराम का जन्मत्सव लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में काफी चहल पहल देखी गई। मौके पर क्षेत्र के विभिन्न बजरंगवली मंदिर एवं घरों के तुलसी मंदिरों में रविवार सुबह से ही भक्ति भाव एवं विधि विधान पूर्वक फल, नारियल, लड्डु एवं घरों से लेकर मंदिरों में पूजा आर्चना किया गया। ध्वज का स्थापना किया गया। पूरे क्षेत्र में भक्ति अाैर उत्साह का महौल बना हुआ रहा। मौके पर नाला प्रखंड क्षेत्र के खैरा बजरंगवली मंदिर कमेटी द्वारा भव्य शोभा यात्रा निकाली गई। शोभा यात्रा के विधि व्यवस्था को बनाये रखने के लिए बिन्दापाथर थाना के एएसआई कपिलदेव रविदास एवं दंडाधिकारी के रुप में सुमन पंडित पुलिस बल के साथ उपस्थित थे। शोभा यात्रा के बाद खैरा गांव स्थित बजरंगवली मंदिर में पूजा आर्चना किया गया तथा ध्वज की स्थापना किया गया। जिससे पूरा परिसर भक्तिमय हो उठा। मंदिर कमेटी द्वारा सभी श्रद्धालुओं के बीच प्रसाद का वितरण किया गया। रामनवमी के शुभ अवसर पर क्षेत्र के विभिन्न मंदिर परिसर में आखाड़ा, भजन कीर्तन, रामयाण आदि का आयोजन कर श्रीराम का जन्माेत्सव काफी उत्साह के साथ मनया गया।