--Advertisement--

रोजगार व सेहत के लिए फायदेमंद है महुआ

प्रकृति द्वारा प्रदत्त महुआ पेड़ लोक समाज का अनमोल धरोहर साबित होने लगा है। संथाल परगना की माटी में सहज ढंग से...

Dainik Bhaskar

Mar 26, 2018, 03:40 AM IST
प्रकृति द्वारा प्रदत्त महुआ पेड़ लोक समाज का अनमोल धरोहर साबित होने लगा है। संथाल परगना की माटी में सहज ढंग से उपलब्ध इस कीमती पेड़ों में अब फल आने लगा है जिससे मध्यम वर्ग एवं गरीबी परिवारों में खुशी छा गई है। नाला प्रखंड क्षेत्र के पेटुआसोल, दलाबड़, रामपुर, नलहाटी, बाघटाना आदि क्षेत्र के विशेषकर ऐसे परिवार के छोटे-छाटे बच्चे और महिलाएं सुबह से शाम तक महुआ फल चुनने में इन दिनों व्यस्त हैं। इस फलों को भोजन के रूप में उपयोग करने के साथ साथ सालभर रखकर खेती के समय मवेशी को खिलाने में काम आता है।

जानकार लोगों का मानना है कि इसके प्रोटिन युक्त इस फल के सेवन से शरीर को शक्ति मिलती है तथा उदर के लिए भी हितकर साबित होता है। यह बात दीगर है कि वर्तमान समय में प्रचलित परंपरा के अनुसार देशी शराब बनाने के लिए महुआ के फलों का काफी उपयोग किया जाता है। पेड़ से फल और फल से बीज (कोंचड़ा) के अलाव तना का घरेलु फर्निचर के लिए उपयुक्त माना जाता है। इतना ही नहीं तेल निकालने के क्रम में प्राप्त खल्ली विशैले जीवों को भगाने के लिए रामवान साबित होता है। उल्लेखनीय है कि इस तरह के पेड़ों से फल-फूल और बीज संग्रह करने के लिए अबतक भले ही वन विभाग या प्रशासन की ओर से किसी तरह की निषेधाज्ञा जारी नहीं की गई है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..