--Advertisement--

दलहन खेती के लिए किया जागरूक

जिले के सभी 118 पंचायतों में लगातार कृषक पाठशाला का आयोजन कर किसानों को वैज्ञानिक तरिके से फसल लगाने के बारे में...

Dainik Bhaskar

Feb 11, 2018, 04:50 AM IST
दलहन खेती के लिए किया जागरूक
जिले के सभी 118 पंचायतों में लगातार कृषक पाठशाला का आयोजन कर किसानों को वैज्ञानिक तरिके से फसल लगाने के बारे में बताया जा रहा है। ताकि किसान फसलों का अच्छा उत्पादन कर सकें। आत्मा द्वारा जिले के जामताड़ा, नारायणपुर, कुंडहित, नाला, फतेहपुर, करमाटांड के सभी पंचायत में कृषक पाठशाला का आयोजन किया जा रहा है।

जिला के देवीपुर, ताराबहाल सहित दर्जनों स्थानों पर कृषक पाठशाला शनिवार को किया गया। बीटीएम इकबाल हुसैन ने बताया कि कृषक पाठशाला आयोजित कर किसानों को मटर की खेती के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई। कहा गया कि किसानों को दलहन फसल के उत्पादन की जानकारी दी गई ताकि दलहन के क्षेत्र में जिला आत्मनिर्भर बन सके। बताया गया कि मटर उत्पादन से किसानों को काफी लाभ होगा। मटर का सब्जी एवं दाल दोनों ही रूप में इस्तेमाल किया जाता है। दोनों ही किसानों को आर्थिक लाभ देता है। मटर का बीज कब और कैसे बोना है। खेत तैयार करने के तरिके को विस्तारपूर्वक बताया। इसके सिंचाई का विधि भी कृषक पाठशाला में बतााय गया। बताया गया कि पौधा बड़ा होने पर उसमें कीट लग जाते हैं, उन कीटों से फसल को बचाने के लिए स्प्रे कैसे और कितना करना है अब कब करना है। इस संबंध में विस्तार पूर्वक किसानों को बताया गया।

बीटीएम ने बताया कि विज्ञानिक तरिके से अगर किसानी की जाए तो वह काफी फायदेमंद होता है। ज्ञात हो कि रबी फसल के दौरान किसानों को मटर बीज का प्रत्यक्षण करके दिखाया गया था। इसमें फूल एवं फसल लगना आरंभ हो गया है। कई किसान सब्जी के रूप में मटर बेचकर आर्थिक रूप से लाभ उठा रहे हैं। पाठशाला में किसान विशेश्वर मरांडी, मदन किस्कू, निमाई गोराई, दिनेश गोराई, बाबूजन हेंब्रम, देवेश्वर मुर्मू सहित अन्य मौजूद थे।

कृषि पाठशाला में उपस्थित किसान।

X
दलहन खेती के लिए किया जागरूक
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..