• Hindi News
  • Jharkhand News
  • Nala
  • झारखंड में जल्द ही शुरू होंगी 10 नई सिंचाई परियोजनाएं
--Advertisement--

झारखंड में जल्द ही शुरू होंगी 10 नई सिंचाई परियोजनाएं

झारखंड में 10 नई सिंचाई परियोजनाएं शुरू होंगी। मुख्यमंत्री रघुवर दास के निर्देश पर जल संसाधन सचिव केके सोन इन वृहद...

Dainik Bhaskar

Jan 12, 2018, 02:55 PM IST
झारखंड में 10 नई सिंचाई परियोजनाएं शुरू होंगी। मुख्यमंत्री रघुवर दास के निर्देश पर जल संसाधन सचिव केके सोन इन वृहद व मध्यम सिंचाई परियोजनाओं को शुरू करने के लिए केंद्रीय सहायता का प्रस्ताव भेजा है। मुख्यमंत्री ने 18 दिसंबर को नई दिल्ली में केंद्रीय जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी से भेंट कर राज्य की सिंचाई परियोजनाओं के विकास और कार्यान्वयन पर केंद्रीय सहायता की मांग की थी। इस पर गडकरी ने इसका प्रस्ताव भेजने को कहा था।

राज्य सरकार ने जिन परियोजनाओं के लिए सहायता मांगी है, वे हैं-देवघर की बुढ़ई जलाशय योजना, गढ़वा जिले की सोन एवं कनहर पाइपलाइन परियोजना, सरायकेला की दुगनी बराज योजना, कोडरमा की तिलैया सिंचाई योजना, गढ़वा की डोमनी नाला बराज व कनहर बराज, पलामू की सोन पाइपलाइन योजना, गाेड्‌डा जिले की तरडीहा बराज योजना व सैदपुर बांध और रांची जिले की राढू जलाशय योजना। इन योजनाओं पर 6868.37 करोड़ रुपए की लागत आएगी।

कुल 6868.38 करोड़ रुपए की लागत आएगी

केंद्र की मंजूरी मिलते ही शुरू होगा काम

मुख्यमंत्री ने कहा कि इन सिंचाई परियोजनाओं पर केंद्र से सहायता संबंधी स्वीकृति मिलते ही काम शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि गांवों को आर्थिक मजबूती देने और कृषि के समग्र विकास के लिए सरकार प्रयास कर रही है। तीन साल में 950 करोड़ की लागत से 1307 चेक डैम, 36 बांध और 34 उद्वह सिंचाई योजनाओं के निर्माण की मंजूरी दी गई है। इनमें 602 चेक डैम का काम पूरा हो गया है। गांवों में डोभा, आहर और तालाब का निर्माण व जीर्णोद्धार किया गया है। 134 आहर एवं तालाबों का जीर्णोद्धार किया गया है। 100 किमी नहर में सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध हो गया है।

किस योजना से कितनी सिंचाई

सोन और कनहर पाइपलाइन परियोजना : इस योजना के तहत गढ़वा और पलामू जिले के सूखाग्रस्त क्षेत्रों में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध होगी। सोन और कनहर नदी से पाइप के जरिए पानी बड़े जलाशयों, तालाबों और जल निकायों को उपलब्ध कराए जाएंगे। इससे सिंचाई तो होगी ही, पीने के पानी की भी सप्लाई की जाएगी। इस योजना पर 10 हजार 64 करोड़ की लागत आएगी।

डोमनी नाला बराज व कनहर : गढ़वा के डोमनी नाला बराज पर 39 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इससे 2856 हेक्टेयर भूमि सिंचित होगी। वहीं कनहर योजना पर 1947 करोड़ की लागत आएगी। इससे 53,283 हेक्टेयर जमीन को पानी मिलेगा।

बुढ़ई जलाशय योजना देवघर की बुढ़ई जलाशय योजना पर 1521 करोड़ रु. खर्च होंगे। इससे 40,583 हेक्टेयर भूमि सिंचित होगी।

तरडीहा बराज व सैदपुर बांध : गोड्‌डा जिले की तरडीहा बराज से 567 हेक्टेयर की सिंचाई होगी। 16.20 करोड़ खर्च होंगे। वहीं सैदपुर बांध से 570 हेक्टेयर जमीन को पानी मिलेगा।

तिलैया सिंचाई योजना कोडरमा की तिलैया सिंचाई योजना पर 55.60 करोड़ खर्च होंगे। 1590 हेक्टयर भूमि को पानी मिलेगा।

दुगुनी बराज योजना सरायकेला का दुगुनी बराज योजना 95.43 करोड़ रु. की है। इससे 413 हेक्टयर भूमि की सिंचाई होगी।

राढ़ू जलाशय योजना रांची जिले की राढ़ू जलाशय योजना पर 1576 करोड़ खर्च होंगे। 10,600 हेक्टेयर भूमि की सिंचाई होगी।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..