• Home
  • Jharkhand News
  • Nala
  • 7वें दिन भी नहीं हुई वार्ता, हड़ताल पर रहीं आंगनबाड़ी सेवका और सहायिका
--Advertisement--

7वें दिन भी नहीं हुई वार्ता, हड़ताल पर रहीं आंगनबाड़ी सेवका और सहायिका

आंदोलन के सातवें दिन भी हड़ताल पर बैठी आंगनबाड़ी सेविका और सहायिका। आंदोलनरत कर्मियों ने कहा सरकार की ढुलमूल...

Danik Bhaskar | Jan 24, 2018, 07:05 PM IST
आंदोलन के सातवें दिन भी हड़ताल पर बैठी आंगनबाड़ी सेविका और सहायिका।

आंदोलनरत कर्मियों ने कहा सरकार की ढुलमूल नीति के कारण ही हमारी मांगों पर आज तक नहीं हुआ विचार

भास्कर न्यूज|नाला

स्थायी नौकरी का दर्जा देने, मानदेय बढ़ाने आदि मांगों के समर्थन में आंगनबाड़ी केंद्र के सेविका और सहायिका 7वें दिन भी हड़ताल पर डटे रहे। इस मौके पर उन्होंने सरकार के ढुलमुल नीति के खिलाफ नारेबाजी भी किया। वक्ताओं ने कहा कि समाज के सभी परिवारों के नौनिहालों को शिक्षा ज्ञान की रोशनी बांटने वाले के घर में ही अंधेरा छा गया है।

वक्ताओं ने कहा कि सरकार की ढुलमूल नीति के कारण ही हमारी मांगों पर आज तक कोई पहल नहीं की गई है। जिससे आंगनबाड़ी सेविका व सहायिकाओं में रोष है। कहा कि अगर जल्द मांगों पर पहल नहीं किया जाएगा तो हमलोग उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे, जिसकी सारी जवाबदेही झारखंड सरकार की होगी। इस परिस्थिति में सहयोग प्रोत्साहन देने के लिए अबतक कोई समाज सेवी या जन प्रतिनिधि सामने नहीं आए है। इस तरह के असहयोग की भावना के लिए भी उन्होंने खेद प्रकट किया। संघ के संरक्षक जीतेन्द्रनाथ मंडल ने कहा कि हमारी मांगों के प्रति सरकार का ध्यान आकृष्ट होने तक बेमियादी हड़ताल जारी रहेगा। इस अवसर पर चंदना सिंह, प्रभा देवी, मीरा मंडल, मिनती साधु, झरना गोराई, ललिता मुर्मू आदि सेविका सहायिका काफी संख्या में मौजूद थीं।