Hindi News »Jharkhand »Nala» नक्सली के संदेह में हिरासत में लिए गए दो युवकों को भाजपा नेता ने छुड़ाया

नक्सली के संदेह में हिरासत में लिए गए दो युवकों को भाजपा नेता ने छुड़ाया

गिरिडीह पुलिस द्वारा नक्सली के संदेह में हिरासत में लिए गए नाला के दो युवकों को प्रदेश भाजपा प्रवक्ता प्रवीण...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 15, 2018, 03:20 AM IST

नक्सली के संदेह में हिरासत में लिए गए दो युवकों को भाजपा नेता ने छुड़ाया
गिरिडीह पुलिस द्वारा नक्सली के संदेह में हिरासत में लिए गए नाला के दो युवकों को प्रदेश भाजपा प्रवक्ता प्रवीण प्रभाकर ने छुड़ाया। इस संबंध में प्रवीण ने बताया कि नाला क्षेत्र के गेड़िया गांव के स्व सुदर्शन किशोर शाही के पुत्र विवेक शाही और कुंडहित के सागर मंडल के पुत्र नयन मंडल को गिरिडीह जिले के पीरटांड़ थाना की पुलिस ने रविवार शाम माओवादी गतिविधियों में शामिल होने के संदेह में गिरफ्तार कर लिया था। वह गिरिडीह से मजदूरों को नाला क्षेत्र लाकर चापाकल बोरिंग काम में लगाया करते थे। मजदूर लाने के लिए विवेक शाही और नयन मंडल कल ही टाटा सूमो गोल्ड वाहन से गिरिडीह पहुंचे थे। वे पीरटांड़ थाना क्षेत्र के जमुनियाटांड़ तथा आसपास के गांवों से मजदूरों को लाकर एक स्थान पर जमा कर रहे थे। इतने में किसी ने पुलिस को सूचित दी कि माओवादी एक स्थान पर इकट्ठा हो रहे है। जब पुलिस गाड़ी वहां पहुंची तो पुलिस को देखकर मजदूर भागने लगे। इससे पुलिस का शक और बढ़ गया। विवेक शाही और नयन मंडल जब तक माजरा समझ पाते, पुलिस वहां पहुंच गई। पुलिस ने जब उनसे पूछताछ शुरू की तो इनके बांग्लाभाषी होने के कारण संवाद में थोड़ी दिक्कत आई। इससे पुलिस को लगा कि ये बाहर से आए माओवादी हैं। पुलिस ने उनपर किसी स्थानीय उग्रवादी कमांडर से सांठगांठ होने का आरोप लगाया और उन दोनों को गिरफ्तार कर थाना ले आई। गिरिडीह के एसपी सुरेंद्र झा को भी पुलिस अधिकारियों ने सूचना दी। एसपी भी तत्काल पीरटांड़ थाना पहुंचे और गिरफ्तार दोनों युवकों को जेल भेजने की तैयारी की जाने लगी। नयन मंडल के परिजनों को जब इसकी सूचना मिली तो उन्होंने तत्काल स्थानीय नेता एवं भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण प्रभाकर से संपर्क किया। भाजपा प्रवक्ता नयन और विवेक को पहले से जानते थे। प्रभाकर ने तत्काल गिरिडीह एसपी से बात की और बताया कि उक्त दोनों युवक उनके जिले के है और उनका नक्सली संगठन से कोई लेना-देना नहीं है।

दोनों युवक पर पुलिस को शक

गिरिडीह के एसपी सुदेंद्र झा ने कहा कि दोनों युवकों पर माओवादी होने का शक है। तब प्रभाकर ने उन्हें बताया कि ऐसी बात नहीं है। वह अपने स्तर पर जांच कर देख लें। प्रवीण प्रभाकर के हस्तक्षेप करने के बाद पुलिस ने दोनों के परिजनों को जामताड़ा से गिरिडीह बुलाया गया और आवश्यक कार्रवाई पूरी करते हुए बांड भरवाकर दोनों को सोमवार सुबह थाने से ही छोड़ दिया गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×