Hindi News »Jharkhand »Narayanpur» एंबुलेंस से मछली ढोने पर सदर प्रखंड के कर्मचारी विनोद कुमार निलंबित

एंबुलेंस से मछली ढोने पर सदर प्रखंड के कर्मचारी विनोद कुमार निलंबित

सदर अस्पताल के एम्बुलेंस से मछली ढोने के मामले में सिविल सर्जन डॉ. वीके साहा ने कार्रवाई करते हुए चालक...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 04, 2018, 03:35 AM IST

सदर अस्पताल के एम्बुलेंस से मछली ढोने के मामले में सिविल सर्जन डॉ. वीके साहा ने कार्रवाई करते हुए चालक (आउटसोर्सिंग) मुक्तार अलम को कार्यमुक्त कर दिया है। सदर प्रखंड जामताड़ा के जिस विनोद कुमार सिंह की बेटी की शादी के लिए एंबुलेंस से मछली ढोयी जा गई थी, उन्हें निलंबित कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग के एम्बुलेंस का दुरूपयोग को लेकर सिविल सर्जन डॉ. वीके साहा ने प्रथम चिकित्सा पदाधिकारी जामताड़ा को शोकॉज किया था। इसके जबाव में प्रथम चिकित्सा पदाधिकारी ने कहा कि घटना की जानकारी उन्हें मिलने पर चालक से स्पष्टीकरण मांगा गया था। एम्बुलेंस के ड्राइवर ने अपने स्पष्टीकरणण में 29 अप्रैल को मछली ढोने की बात स्वीकारी थी। वहीं सदर प्रखंड के कर्मचारी विनोद कुमार सिन्हा ने अपने स्पष्टीकरण एंबुलेंस से मछली ढोने को मानवीय भूल बताया है।

जांच टीम की रिपोर्ट आने के बाद की गई कार्रवाई

गत 29 अप्रैल को विभागीय एम्बुलेंस संख्या जेएच 01 के- 6664 के चालक द्वारा मछली ढोया जा रहा था। जिसे स्थानीय लोगों ने देखा एवं आपत्ति दर्ज की थी। इस खबर के प्रकाशन के बाद विभाग हरकत में आया तथा कार्रवाई की गई। एम्बुलेंस मरीजों को रेफरल की सुविधा प्रदान करने के लिए जाता है। सिविल सर्जन ने पत्र में कहा था कि 24 घंटे के भीतर स्पष्टीकर प्रस्तुत करें कि किस परिस्थिति में 29 अप्रैल को दोपहर उक्त एम्बुलेंस द्वारा मछली ढोया जा रहा था। इस संबंध में विभिन्न अखबारों में प्रकाशित खबर का हवाला दिया गया था।

मामले की जांच कर टीम ने दी रिपोर्ट :विभागीय एम्बुलेंस के दुरूपयोग मामले की जांच को लेकर टीम का गठन किया गया था। सिविल सर्जन डॉ बीके साहा ने जिला मलेरिया पदाधिकारी एसके मिश्रा, जिला यक्ष्मा पदाधिकारी दिनेश कुमार अखौरी एवं जिला कार्यक्रम प्रबंधक दीपक कुमार गुप्ता को मामले की जांच कर तीन दिनों के भीतर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया था। सिविल सर्जन को जांच रिपोर्ट सौंप दिया गया है। जिसमें एम्बुलेंस से मछली ढोेने की पुष्टि हुई है। जांच रिपोर्ट आने के बाद सिविल सर्जन ने कार्रवाई करते हुए संगणक विनोद कुमार सिन्हा को निलंबित कर दिया है। निलंबन अवधि में इनका मुख्यालय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नारायणपुर किया गया। वहीं एम्बुलेंस चालक जो आउट सोर्सिंग के तहत कार्यरत है कार्यकारी एजेंसी फ्रंटलाइन को आदेश दिया गया कि मुक्तार अलम को आदेश प्राप्ति के साथ कार्यमुक्त कर उनके स्थान पर किसी सुयोग्य चालक उपलब्ध कराने को कहा गया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Narayanpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×