Hindi News »Jharkhand »Narayanpur» गुरु गोष्ठी ने बताया खाता नहीं खुलने से छात्रों को नहीं मिल पाएगी छात्रवृति

गुरु गोष्ठी ने बताया खाता नहीं खुलने से छात्रों को नहीं मिल पाएगी छात्रवृति

प्रखंड परिसर स्थित प्रखंड संसाधन केंद्र में गुरुवार को प्राथमिक एवं मध्य विद्यालय के शिक्षकों की गुरु गोष्ठी...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 04, 2018, 03:35 AM IST

प्रखंड परिसर स्थित प्रखंड संसाधन केंद्र में गुरुवार को प्राथमिक एवं मध्य विद्यालय के शिक्षकों की गुरु गोष्ठी आयोजित की गई। अध्यक्षता प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी सुभाष प्रसाद ने की। आयोजित गुरु गोष्ठी में विभिन्न पहलुओं पर विचार विमर्श किया गया एवं कई आवश्यक निर्देश दिए गए। इस अवसर पर उपस्थित शिक्षकों को संबोधित करते हुए प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी सुभाष प्रसाद ने कहा कि बैंक खाता के अभाव में गत वित्तीय वर्ष में कई छात्र छात्राओं को छात्रवृत्ति नहीं मिल पाई। वैसे अभिभावक अपने बच्चों का बैंक खाता जल्दी खुलवा लें, बैंक खाता नहीं खुलने से इस वित्तीय वर्ष में भी उनके छात्रवृत्ति का भुगतान संभव नहीं हो पाएगा। इसके अलावा उन्होंने उपस्थित शिक्षकों से कहा कि स्कूली बच्चों को मिलने वाले किट का वितरण सही समय पर हो सके इसके लिए जल्द सूची जमा करें। साथ ही यह भी कहा गया कि बच्चों को मिलने वाले मध्याह्न भोजन में पूरी तरह पारदर्शिता होनी चाहिए। इस बात का पूरा ख्याल रखें कि मेनू के आधार पर बच्चों को मध्याह्न भोजन मिले तथा एक दिन भी मध्याह्न भोजन बंद नहीं होनी चाहिए।

प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी सुभाष प्रसाद ने कहा कि इस वर्ष अभी तक बच्चों के लिए किताब उपलब्ध नहीं हो पाई है। जब तक विद्यालय में पुस्तक उपलब्ध नहीं होती है तब तक शिक्षक पुराने पुस्तक से ही शिक्षण कार्य आरंभ करावें। ताकि बच्चों की पढ़ाई सुचारु रह सके, इसके अलावा अन्य कई बिंदुओं पर भी चर्चा की गई। आयोजित गुरु गोष्ठी में सीआरपी प्रताप गुप्ता, सोहन कुमार, मकसूद आलम के अलावा शिक्षकों में पवन कुमार सिंह, राकेश कांत रोशन, बाल्मीकि कुमार, आरती सिंह, बालेश्वर पंडित, जयराम पासवान एवं अजय सिंह सहित काफी संख्या में शिक्षक उपस्थित थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Narayanpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×