--Advertisement--

विद्या नगर में चल रहा था ठगी का कॉल सेंटर, 50 लोगों को 10 लाख का चूना लगाया

लॉट्री सर्विस सेंटर के नाम पर लेते थे झांसे में।

Dainik Bhaskar

Nov 18, 2017, 08:12 AM IST
Call center of Thagi was going on in Vidya Nagar

रांची। साइबर पुलिस ने राजधानी में साइबर अपराधियों के बड़े नेटवर्क का पर्दाफाश किया है। हरमू विद्यानगर में ठगी का कॉल सेंटर चलाने वाले 7 साइबर अपराधियों को पुलिस ने गुरुवार देर रात गिरफ्तार किया। सभी अपराधी बिहार के नवादा निवासी हैं।

- लॉट्री और कस्टमर सर्विस सेंटर खोलने के नाम पर एक महीने में 50 से ज्यादा लोगों से 10 लाख रु. ठगे। पुलिस इनके बैंक खातों को जांच रही है। इस गोरखधंधे के बारे में साइबर पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी। इसके बाद साइबर डीएसपी श्रद्धा केरकट्टा के नेतृत्व में टीम गठित कर विद्यानगर में करम चौक के पास एक मकान में छापामारी की गई, जिसमें सातों अपराधी पकड़े गए।

- ठगी के कॉल सेंटर का मास्टर माइंड दीपक कुमार है। दीपक ने सभी लड़कों को एक-एक राज्य का जिम्मा दे रखा था। ये सभी लॉट्री, सर्विस सेंटर खोलने और इनाम में सफारी गाड़ी निकली है कहकर लोगों को फांसते थे। ये वेबसाइट से और ऑनलाइन लोगों के मोबाइल नंबर बेचने वाली कंपनियों से डाटा खरीदते थे या चुराते थे।

- पकड़े गए बदमाशों ने पुलिस को बताया कि नाप-तौल के माध्यम से खरीदारी करने वालों का मोबाइल नंबर ये सबसे ज्यादा लेते थे। फिर उन्हें फोन कर कहते थे कि अापने नाप-तौल से खरीदारी की थी। आपका इनाम निकला है।

- फोन करने वाले इसलिए विश्वास कर लेते थे, क्योंकि वे नाप-तौल से खरीदारी किए हुए रहते थे। विश्वास में लेकर उनसे इनाम की डिलीवरी के लिए पैसे मांगते थे।

यह सामग्री हुई बरामद

गिरफ्तार अपराधियों के पास से एक लैपटाप, एक प्रिंटर, 20 मोबाइल फोन, 3 पेन ड्राइव, विभिन्न बैंकों के 4 एटीएम कार्ड, 13 नोटबुक, दो पैन कार्ड, 1 वोटर आईडी कार्ड, वाईफाई कनेक्शन मिला है।

X
Call center of Thagi was going on in Vidya Nagar
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..