--Advertisement--

रांची-टाटा रोड पर हादसे में 11 सौ मौतें : सरकार और कितना इंतजार करेगा एनएचएआई :HC

एनएच 33 बना रही कंपनी रांची एक्सप्रेसवे के एमडी को नोटिस किया, 29 तक मांगा जवाब।

Dainik Bhaskar

Nov 15, 2017, 07:46 AM IST
High Court notice to MD of Ranchi Expressway
रांची। झारखंड हाईकोर्ट ने रांची-जमशेदपुर हाईवे (एनएच 33) के निर्माण कार्य की प्रगति पर एनएचएआई से पूछा है कि काम कराने वाली कंपनी रांची एक्सप्रेस-वे के विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई के लिए और कितना इंतजार करेंगे। जस्टिस अपरेश कुमार सिंह जस्टिस बीबी मंगलमूर्ति की खंडपीठ ने मंगलवार को सरकार का जवाब नहीं मिलने और कंपनी द्वारा कोर्ट के आदेश के बावजूद एमडी कंपनी की संपत्ति का ब्योरा नहीं देने पर यह टिप्पणी की।
- सरकार ने बताया कि 2011 में जब इस सड़क का निर्माण शुरू हुआ, तब से अब तक दुर्घटनाओं में 11 सौ मौतें हो चुकी हैं। पिछली सुनवाई में कोर्ट ने इस सड़क पर हुई मौतों पर जानकारी मांगी थी।
- एनएच33 को फोर लेन बनाने के लिए वर्ष 2011 में मधुकॉन कंपनी ने काम शुरू किया था। बाद में रांची एक्सप्रेस-वे को काम दिया गया। नामकुम से जमशेदपुर के महुलिया तक वर्ष 2016 में ही बन जाना था।
सीरियस फ्रॉड इन्वेस्टीगेशन ऑफिस को कंपनी की जांच कर रिपोर्ट देने का आदेश
- संपत्ति की जानकारी नहीं देने पर कोर्ट ने कंपनी के एमडी केएस राव के विरुद्ध नोटिस जारी करने का आदेश दिया। कोर्ट ने सीरियस फ्रॉड इन्वेस्टीगेशन ऑफिस को कंपनी के संबंध में जांच कर रिपोर्ट देने काे कहा।
- कोर्ट ने कहा कि सड़क निर्माण की प्रगति धीमी है। लगातार मौतें हो रही हैं। खर्च कहां हुआ, इससे बैंक को भी मतलब नहीं। उसे तो अपने ब्याज से मतलब है।
X
High Court notice to MD of Ranchi Expressway
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..