Hindi News »Jharkhand »Nirsa» दलगत राजनीति से अलग हटकर काम कर रहा है अभाविप: धीरज

दलगत राजनीति से अलग हटकर काम कर रहा है अभाविप: धीरज

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद निरसा इकाई के तत्वावधान में सोमवार को परिषद के 69वां स्थापना दिवस को राष्ट्रीय छात्र...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 10, 2018, 03:50 AM IST

दलगत राजनीति से अलग हटकर काम कर रहा है अभाविप: धीरज
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद निरसा इकाई के तत्वावधान में सोमवार को परिषद के 69वां स्थापना दिवस को राष्ट्रीय छात्र दिवस के रूप में मनाया गया। इस दौरान निरसा गुरुद्वारा परिसर में प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत परिषद गीत व झंडोत्तोलन के साथ हुई। इसके बाद अतिथियों ने भारत माता व स्वामी विवेकानंद जी की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई। कोयलांचल विश्व विद्यालय के संयोजक धीरज मिश्रा ने कहा कि अभाविप ही पूरे विश्व में एक ऐसा छात्र संगठन है जो दलगत राजनीत से अलग महाविद्यालय परिसर में शैक्षणिक वातावरण बनाने को लेकर काम करती है। छात्र कल के नहीं आज के नागरिक हैं। अभाविप इसी अवधारणा के साथ राष्ट्र स्तर पर काम करती है। साथ ही देश के आतंरिक व बाहरी मुद्दाओं पर भी हम अपने विचार स्पष्ट रूप से रखते हैं। चाहे वह देश की सीमा का सवाल हो, आतंकवाद व नक्शलवाद का मुद्दा हो, घुसपैठी का मुद्दा आदि पर आंदोलन कर चुकी है। देश ही नहीं पूरे विश्व के मानस पटल पर अभाविप अपने 69 वर्ष के कार्यकाल के दौरान शिक्षा के क्षेत्र में एक नया आयाम देने काम किया है। सबको शिक्षा सुलभ हो शिक्षा के नारे पर तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने वर्ष 1999 में सर्व शिक्षा अभियान के तहत देश में अशिक्षा दूर करने का काम किया। आज के वैश्विक में जहां विद्यार्थियों का नैतिक पतन होते नजर आ रहा है। वहीं अभाविप शैक्षणिक संस्थाओं में काम कर विद्यार्थियों के बीच देश भक्ति की भावना के साथ सामाजिक ज्ञान का बोध करवा रही है।

प्रशस्ति पत्र और मैडल के साथ निरसा के टॉपर।

कार्यक्रम के दौरान अभाविप का झंडोत्तोलन करते अतिथि।

भास्कर न्यूज|निरसा

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद निरसा इकाई के तत्वावधान में सोमवार को परिषद के 69वां स्थापना दिवस को राष्ट्रीय छात्र दिवस के रूप में मनाया गया। इस दौरान निरसा गुरुद्वारा परिसर में प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत परिषद गीत व झंडोत्तोलन के साथ हुई। इसके बाद अतिथियों ने भारत माता व स्वामी विवेकानंद जी की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई। कोयलांचल विश्व विद्यालय के संयोजक धीरज मिश्रा ने कहा कि अभाविप ही पूरे विश्व में एक ऐसा छात्र संगठन है जो दलगत राजनीत से अलग महाविद्यालय परिसर में शैक्षणिक वातावरण बनाने को लेकर काम करती है। छात्र कल के नहीं आज के नागरिक हैं। अभाविप इसी अवधारणा के साथ राष्ट्र स्तर पर काम करती है। साथ ही देश के आतंरिक व बाहरी मुद्दाओं पर भी हम अपने विचार स्पष्ट रूप से रखते हैं। चाहे वह देश की सीमा का सवाल हो, आतंकवाद व नक्शलवाद का मुद्दा हो, घुसपैठी का मुद्दा आदि पर आंदोलन कर चुकी है। देश ही नहीं पूरे विश्व के मानस पटल पर अभाविप अपने 69 वर्ष के कार्यकाल के दौरान शिक्षा के क्षेत्र में एक नया आयाम देने काम किया है। सबको शिक्षा सुलभ हो शिक्षा के नारे पर तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने वर्ष 1999 में सर्व शिक्षा अभियान के तहत देश में अशिक्षा दूर करने का काम किया। आज के वैश्विक में जहां विद्यार्थियों का नैतिक पतन होते नजर आ रहा है। वहीं अभाविप शैक्षणिक संस्थाओं में काम कर विद्यार्थियों के बीच देश भक्ति की भावना के साथ सामाजिक ज्ञान का बोध करवा रही है।

इन्हें किया गया सम्मानित

प्रतिभा सम्मान को लेकर निरसा विधानसभा के इंटर एवं मैट्रिक की परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन करने वाले 35 विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया। साथ ही नृत्य, संगीत, बॉडी बिल्डिंग, भारोत्तोलन आदि के क्षेत्रों में अखिल भारतीय एवं राज्य स्तर पर बेहतर प्रदर्शन करने वाले लोगों को भी सम्मानित किया गया। बॉडी बिल्डिंग में जूनियर मिस्टर इंडिया रह चुके संजीत घोष, मिस्टर झारखंड सुरेश बाउरी, सिंगापुर में जाकर कत्थक नृत्य प्रस्तुत कर देश का नाम रोशन करने वाली दुर्गा चक्रवर्ती आदि को शिल्ड एवं मेडल देकर सम्मानित किया गया। उक्त अवसर पर अभाविप के पुराने कार्यकर्ताओं को भी सम्मानित किया गया। कार्यक्रम को कृष्णा राम, संजीव, विश्वजीत पांडेय, संजय सिंह, दिनेश ठाकुर, लवली सिंह, विशाल तिवारी, नीतीश साव, आलोक सिंह, शिवशंकर दास आदि ने अपने-अपने विचार रखे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nirsa

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×