• Home
  • Jharkhand News
  • Noamundi
  • शादीशुदा डाकुवा ने नाबालिग का हाथ मांगा मना किया तो परिवार के 5 लोगों को मार डाला
--Advertisement--

शादीशुदा डाकुवा ने नाबालिग का हाथ मांगा मना किया तो परिवार के 5 लोगों को मार डाला

एक डाकुवा ने गांव के निवासी रामसिंह सिरका की नाबालिग बेटी से शादी करनी चाही। उसने रामसिंह से बेटी का हाथ मांगा।...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 03:00 AM IST
एक डाकुवा ने गांव के निवासी रामसिंह सिरका की नाबालिग बेटी से शादी करनी चाही। उसने रामसिंह से बेटी का हाथ मांगा। डाकुआ विवाहित और लड़की नाबालिग है इसलिए रामसिंह ने शादी से इनकार कर दिया। यह बात डाकुआ को नागवार गुजरी और उसने रामसिंह के परिवार के पांच लोगों को जान से मार डाला। यह घटना 15 दिन पहले सारंडा के गुआ थाना क्षेत्र के तुलासाईं गांव की है। नोवामुंडी पुलिस ने मुख्य आरोपी डाकुवा को गिरफ्तार कर लिया। उससे गुआ थाना प्रभारी संजय कुमार पूछताछ कर रहे हैं। पुलिस ने रविवार को ग्रामीण रामसिंह सिरका के परिवार के चार सदस्यों का शव गांव के पास जंगल से बरामद किया। लाशें सड़ चुकी हैं। घर के मुखिया रामसिंह सिरका का शव 27 मार्च को ही पुलिस ने बरामद कर लिया था। जानकारी के अनुसार पांचों की हत्या आरोपी डाकुवा काशीनाथ बोयपाई ने साथियों के साथ 15 मार्च को की थी। हत्या के बाद शवों को जंगल मे फेंक दिया। डाकुवा गांव का दबंग है।

वह रामसिंह की 17 साल की बेटी से शादी करना चाहता था। वह पहले से शादीशुदा था इसलिए रामसिंह ने शादी से मना कर दिया। इससे काशीनाथ काफी नाराज था। बार-बार समझाने के बावजूद जब रामसिंह राजी नहीं हुआ, तो गुस्से में आकर काशीनाथ ने रामसिंह समेत परिवार के पांचों सदस्यों को मौत के घाट उतार दिया। घटना के बाद डाकुवा काशीनाथ सहयोगियों के साथ फरार हो गया था।

सिर्फ वही नकारात्मक खबर, जो जानना जरूरी है

आरोपी ने 8 लोगों के साथ पहले परिवार के 4 लोगों को मारा, फिर रामसिंह की जान ली

ऐसे दिया घटना को अंजाम

15 मार्च को रामसिंह गांव से बाजार गया था। काशीनाथ को इसकी जानकारी थी। उसने कुछ सहयोगियों के साथ परंपरागत हथियारों से रामसिंह सिरका के परिवार के चारों सदस्यों की हत्या कर शवों को गांव से दूर जंगल में फेंक दिया। इधर, बाजार से लौटने पर रामसिंह ने परिजनों को घर पर नहीं पाया तो खोजबीन की। लेकि उनका कोई पता नहीं चला। वह वापस घर आ गया। घात लगाए बैठे काशीनाथ ने रामसिंह की भी हत्या कर दी। मृतकों में 42 वर्षीय रामसिंह सिरका, 40 वर्षीय प|ी पानो कुई, 17 वर्षीय बेटी रंभा सिरका, 8 वर्षीय बेटा सोनिया सिरका व 12 वर्षीय कोड सिरका शामिल हैं। पुलिस अधिकारियों ने बताया, हत्याकांड का खुलासा करने में पुलिस बहुत दिनों से लगी थी। जांच-पड़ताल के बाद पता चला कि सामूहिक हत्याकांड में उसी गांव के 9 लोग शामिल हैं। बहरहाल, लाश मिलने के बाद हत्या की पुष्टि हो चुकी है। मामले की कमान अनुमंडल पुलिस अधिकारी ने संभाला है। पुलिस सोमवार की सुबह तक कोई बड़ा खुलासा कर सकती है।